अखिलेश यादव ने क्यों कहा कि कांग्रेस को बीजेपी से सीखने की जरूरत है ?

akhilesh-yadav

लोकसभा चुनाव की तारीखों के एलान के बाद बीजेपी फुल फॉर्म में है. पहले उसके जो सहयोगी उससे नाराज होकर अलग हो रहे थे अब वो उसके साथ आ रहे हैं. इतना ही नहीं दूसरी पार्टियों के कई नेता भी बीजेपी में शामिल हो रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस से उसके सहयोगी अलग हो रहे हैं. इसको लेकर अखिलेश ने कांग्रेस पर निशाना साधा है.

सपा मुखिया ने एक अंग्रेजी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा है कि गठबंधन में सहयोगियों को कैसे साथ रखना है ये कांग्रेस को बीजेपी से सीखना चाहिए. उन्होंने कहा,

“कांग्रेस बड़ी पार्टी है। उसे अन्य दलों की मदद करनी चाहिए। उदाहरण के तौर पर वे बंगाल में ममता बनर्जी की मदद कर सकते हैं, जबकि दिल्ली में वह अरविंद केजरीवाल का साथ दे सकते हैं।”

अखिलेश यादव ने ये भी कहा है कि कांग्रेस को अपने सहयोगियों को मैनेज करना चाहिए था. उन्होंने कहा कि अपने सहयोगियों का सम्मान करना चाहिए और बीजेपी की तरह कांग्रेस को सीखना चाहिए. अखिलेश यादव ने कहा,

“कांग्रेस बड़ी पार्टी है। उसे अन्य दलों की मदद करनी चाहिए। उदाहरण के तौर पर वे बंगाल में ममता बनर्जी की मदद कर सकते हैं, जबकि दिल्ली में वह अरविंद केजरीवाल का साथ दे सकते हैं।” गठबंधन बरकरार रखने को लेकर बीजेपी का जिक्र करते हुए वह बोले, “बिहार सबसे बेहतरीन उदाहरण हैं। देखिए वहां कैसे बीजेपी ने सीटें जीतीं।”

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी भी बड़ी पार्टी है और उसे पता है कि चीजें कैसे मैनेज की जाती है. उन्होंने कहा बीजेपी ये जानती है कि किस नेता को चुनना है और कब चुनना है. अखिलेश ने कहा है कि बीजेपी किसी पार्टी या नेता का चुनाव करते वक्त फायदा या नुकसान को ज्यादा ध्यान में नहीं रखती बल्कि ये देखती है कि कब किसे और क्यों चुनना है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.