भारत-इस्राएल दोस्ती को मजबूती देता है ‘हीरा’ लेकिन कैसे?

भारत-इस्राएल दोस्ती (India Israel friendship) का गाढा पन हीरे की चमक पर निर्भर करता है. हिंदुस्तान के कई हीरा व्यापारी सालों से इस्राएल में रहकर वहां हीरों का कारोबार कर रहे हैं. नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद दोनों देशों के संबंध पहले से कहीं अधिक मजबूत हुए हैं.

भारत-इस्राएल दोस्ती (India Israel friendship): भारत का इस्राएल के साथ व्यापार करना और दोस्ती को एक नए आयाम तक ले जाना काफी कारगर साबित हो रहा है. और इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है हीरा. हिंदुस्तान के कई हीरा कारोबारी इसराइल में रहकर अपने कारोबार को चमका रहे हैं. हीरा विशेषज्ञों के मुताबिक भारत और इस्राएल के बीच हीरे ने एक प्रमुख राजनयिक और आर्थिक लिंक को स्थापित किया है- जो हर साल 1.5 अरब डॉलर या सभी व्यापार के आधे का प्रतिनिधित्व करता है.

इस्राएल के डायमंड एक्सचेंज में लगभग 30 भारतीय कंपनियां ट्रेडिंग करती हैं, जिस कारण भारत एक ऐसा विदेशी देश बन गया है जिसकी सबसे अधिक संख्या में कंपनियां है. इस्राएल में हीरे का कारोबार करने वाले अधिकांश भारतीय परिवार, लगभग 80 लोग, रमात गान शहर में डायमंड एक्सचेंज के पास रहते हैं. कई परिवार एक ही इमारत में रहते हैं.

भारत-इस्राएल दोस्ती को नए मकान पर ले जाना चाहती है सरकार

डायमंड एक्सचेंज के विशाल परिसर में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) भी मौजूद है, जो वहां मौजूद एकमात्र विदेशी बैंक है. इस्राएल के रक्षा मंत्री बेन्यामिन गांत्ज भारत और इस्राएल के बीच आधिकारिक राजनयिक संबंधों की स्थापना की 30वीं वर्षगांठ के मौके पर भारत दौरे पर थे. उन्होंने भारत से रक्षा संबंधों को गहरा करने का आग्रह किया है.भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात के बाद गांत्ज ने कहा, “एक साथ काम करके, हम अपनी क्षमताओं को बढ़ा सकते हैं और दोनों देशों की सुरक्षा और आर्थिक हितों को सुनिश्चित कर सकते हैं.”

2014 में भारतीय जनता पार्टी की जीत और नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से ही दोनों देशों के रिश्ते काफी सुधरे हैं और दोनों देशों ने बड़े-बड़े समझौते भी किए हैं. इस्राएल हर साल भारत को लगभग एक अरब डॉलर के सैन्य उपकरण बेचता है. दोनों के बीच जल प्रणालियों, कृषि, स्वास्थ्य और सौर ऊर्जा के क्षेत्र में भी सहयोग समझौते कई गुना बढ़ गए हैं.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. https://rajniti.online/ पर विस्तार से पढ़ें देश की ताजा-तरीन खबरें

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *