क्रिकेट विश्वकप 2019 : ICC ने कहा धोनी को ग्लव्स से हटाना होगा ‘बलिदान बैज’

dhonii

इंग्लैंड में क्रिकेट विश्व कप चल रहा है लेकिन भारत में इन दिनों चर्चा में है एमएस धोनी का ग्लव्स. धोनी ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलते हुए जो ग्लव्स पहने थे उसमें सैन्य प्रतीक ‘बलिदान बैज’ लगा था. इस पर इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने आपत्ति जताई थी. लेकिन धोनी इस बैज को हटाना नहीं चाहते और बीसीसीआई उनसे साथ खड़ी है.

क्रिकेट विश्वकप 2019 : भारत और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वर्ल्ड कप के मैच में विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी द्वारा इस्तेमाल किए गए ग्लव्स सुर्खियों में हैं. धोनी ने मैच में सैन्य प्रतीक ‘बलिदान बैज’ वाले ग्लव्स पहने थे. इन बैज को लेकर ICC ने आपत्ति जताई है  और कहा है कि धोनी को ये बैज हटाना पड़ेगा. लेकिन बीसीसीआई धोनी के साथ खड़ी नजर आई और कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स (CoA) के प्रमुख विनोद राय ने कहा कि धोनी के चिह्न में कुछ भी गलत नहीं है.

कहा जा रहा है कि न तो वह चिह्न धार्मिक है और न ही कमर्शियल इसलिए आईसीसी को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए. बीसीसीआई के इस तर्क पर आईसीसी ने कहा है कि वह इसपर फिर से समीक्षा की जाएगी. खबर ये आ रही है कि आईसीसी धोनी को ‘बलिदान बैज’ के ग्लव्स के साथ खेलने के लिए राजी हो सकती है. आईसीसी का धोनी को इस शर्त पर बैज लगे ग्लव्स पहने की इजाजत दे सकती है कि धोनी उसे इस बात का आश्वासन दें कि इस प्रतीक से किसी तरह के नस्लीय, राजनीतिक या कमर्शियल उद्देश्य का समर्थन नहीं करता.

आपको बता दें कि धोनी ने पैरा कमांडो के प्रति सम्मान प्रदर्शित करते हुए अपने ग्लव्स पहले थे. क्योंकि वो भारतीय सेना की टेरीटोरियल आर्मी में ऑनेररी पद पर हैं और टेरीटोरियल आर्मी की पैराशूट रेजीमेंट के अधिकारी हैं. धोनी के ग्लव्स पर जो बलिदान चिन्ह है वो भारतीय सेना की स्पेशल फोर्सेज के पैरा कमांडो की यूनिफॉर्म की पॉकेट पर लगा होता है. यह बैज स्पेशल फोर्सेज की पहचान माना जाता है

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.