INDvsENG : टीम इंडिया ने ऐसा क्या कर दिया जिसकी चर्चा हो रही है?

केINDvsENG : 111 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए शिखर धवन ने 31 तो रोहित शर्मा ने 76 रन बनाए. दोनों बल्लेबाज़ नाबाद रहे हैं.

INDvsENG : रोहित और शिखर धवन के बीच 18वीं बार शतकीय साझेदारी हुई है. ओवल के इस ग्राउंड पर दोनों के बीच चौथी बार शतकीय साझेदारी है. हारने के बाद इंग्लैंड के कप्तान जॉस बटलर ने कहा कि भारत ने टी-20 और इस मैच में बहुत शानदार गेंदबाज़ी की है.

रोहित शर्मा ने कहा कि पिच की स्थिति और मौसम को देखते हुए पहले गेंदबाज़ी का फ़ैसला सही रहा. आज पिच तेज़ गेंदबाज़ों के लिए अच्छी थी. अपने और शिखर धवन के बीच शतकीय साझेदारी पर रोहित बोले कि हम एक दूसरे को अच्छी तरह जानते हैं, हम इंग्लैंड के गेंदबाज़ी भी समझते हैं.

INDvsENG में बुमराह ने कमाल कर दिया

इंग्लैंड को तो ये समझ में ही नहीं रहा था कि कप्तान के तौर पर पिछले ही हफ्ते एजबेस्टन टेस्ट के अंतिम दिन जिस बुमराह से ना तो रन रोके जा रहे थे और ना विकेट लिए जा रहे थे और ना ही स्विंग करायी जा पा रही थी तो वो अचानक इतना ख़तरनाक ओवल में कैसे हो गये कि उनके टॉप क्रम के 4 बल्लेबाज़ों में 3 को खाता खोलने तक का मौक़ा भी नहीं मिला. ऐसा वन-डे क्रिकेट के इतिहास में पहली बार हुआ.

बुमराह तो मानो रोहित के टॉस जीतने के साथ ही गेंद लेकर मैदान में कूदने का इरादा लेकर आये थे. टॉस के बाद जैसे ही बुमराह ने मैदान में बड़ी स्क्रीन पर देखा कि भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी का फैसला किया है तो वो उसी वक्त मोहम्मद शमी के साथ अपनी मुस्कराहत को रोक नहीं पाये. ऐसा लगा कि ये जोड़ी बस रोहित के इस फैसले के इतंज़ार में लार टपकाये बैठी हुई थी!

मैच के पहले 10 ओवर के ही खेल में बुमराह ने 4 विकेट झटक डाले और वो भी सिर्फ़ 9 रन देकर. भारतीय क्रिकेट के इतिहास में यूं तो स्टुअर्ट बिन्नी और जवागल श्रीनाथ ने बांग्लादेश और श्रीलंका जैसी टीमों के ख़िलाफ़ अतीत में कुछ ऐसे ही असाधारण स्पेल डाले हैं लेकिन वर्ल्ड चैंपियन इंग्लैंड के ख़िलाफ और वो भी उनके घर में इतने शानदार खिलाड़ियों की मौजूदगी वाली मेज़बान टीम के खिलाफ इस स्पेल को निसंदेह सबसे बेहतरीन स्पेल कहा जा सकता है.

इंग्लैंड में अब तक दर्जन से भी कम गेंदबाज़ों में एक पारी में वन-डे क्रिकेट में 6 या उससे ज़्यादा विकेट लिये हैं लेकिन बुमराह उस सूची में भी हटकर हैं. उनके 6 विकेट महज़ 44 गेंदों पर आये, मतलब हर 7वीं गेंद फेंकने के बाद एक विकेट गुजरात के इस गेंदबाज़ को मिल रहा था.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. https://rajniti.online/ पर विस्तार से पढ़ें देश की ताजा-तरीन खबरें

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *