मिशन शक्ति: मोदी की स्पीच क्या आचार संहिता का उल्लंघन है, EC ने बुलाई हाई लेबल बैठक

अंतरिक्ष में भारत की कामयाबी को बताने के लिए पीएम मोदी ने देश ने नाम संदेश दिया. उन्होंने बताया की भारतीय वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में एक बेकार पड़े सैटेलाइट को मार गिराया है और ये काम करने में सिर्फ 3 मिनट लगे.

मोदी ने इस घटना की जानकारी देने के लिए देश के नाम संदेश दिया. लेकिन विपक्षी दलों ने इसको लेकर चुनाव आयोग में शिकायत कर दी. चुनाव आयोग ने सरकार से मोदी के संबोधन की कॉपी मांगी है. और हाईलेबल बैठक बुलाई. विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग में शिकायत की है कि मोदी ने चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया है.

दरअसल पीएम मोदी ने डीआरडीआओ के वैज्ञानिकों की कामयाबी को बताने के लिए एक ट्वीट करके पहले जानकारी दी थी कि वो देश के नाम संबोधन करने वाले हैं. पूरे देश में मोदी के इस संबोधन को लेकर चर्चाएं शुरु हो गईं. इसके बाद करीब 12.30 बजे मोदी ने देश को बताया कि भारत ने लो अर्थ ऑर्बिट में ‘मिशन शक्ति’ को पूरा कर लिया है.

पीएम के संबोधन की टाइमिंग पर विपक्षी दलों ने सवाल उठाए हैं. टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने कहा है कि ये चुनावी घोषणा है. ये आचार संहिता का उल्लंघन है. राहुल गांधी ने भी इसपर ट्वीट किया और कहा कि,

‘पीएम मोदी को थियेटर दिवस की बधाई’

विपक्षी दलों का कहना है कि पीएम मोदी ने आचार संहिता का उल्लंघन किया है और चुनाव आयोग को इसपर कार्रवाई करनी चाहिए. चुनाव आयोग ने विपक्षी दलों की शिकायत के बाद सरकार ने मोदी के संबोधन की कॉपी मांगी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.