अबकी बार, यूपीए सरकार !

मोदी और राहुल गांधी यही दो चेहरे 2014 में आमने सामने थे और मोदी ने बुरी तरह राहुल गांधी को शिकस्त दी थी. पांच साल बाद मोदी और तमाम चेहरे सामने हैं. मोदी कोशिश तो कर रहे हैं कि उनके सामने राहुल गांधी ही हों लेकिन विपक्ष ऐसा होने नहीं दे रहा और यही वजह है कि लोकसभा चुनाव को गणित बदल गया है.

इंडिया टुडे-कार्वी इनसाइट्स के मूड ऑफ द नेशन सर्वे:

  1. NDA को 237 सीटें मिल सकती हैं, ये 2014 से 99 कम हैं
  2. UPA को 166 सीटें मिल सकती हैं, ये 2014 से 106 सीटें ज्यादा हैं
  3. बाकी पार्टी को 140 सीटें मिल सकती हैं, जो 13 सीटें कम हैं

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इंडिया टुडे-कार्वी इनसाइट्स ने 19 राज्यों की कुल 97 संसदीय सीटों के तहत 194 विधान सभा क्षेत्रों में 28 दिसंबर 2018 से लेकर 08 जनवरी 2019 तक सर्वे किए हैं. इस सर्वे में 12 हजार 166 लोगों के इंटरव्यू किए गए हैं. इसमें 69 फीसदी ग्रामीण और 31 फीसदी शहरी इलाकों के आंकड़े हैं.

ये भी पढ़ें

ये आंकड़े तब हो सकते हैं जब अभी चुनाव होते हैं. यानी NDA की सरकार गिर सकती है. त्रिशंकु लोकसभा हो सकता है. बहुमत का आंकड़ा 272 है और जो मूड देश का है वो ऐसा है कि कोई भी दल ये आंकड़ा नहीं छू रहा. NDA बहुमत से 35 सीटें दूर है, वोट शेयर की बात करें तो NDA को 35%, UPA 33% और अन्य को 32% वोट  मिल सकते हैं.

सर्वे कहता है कि सरकार बनाने के तीन विकल्प हो सकते हैं:

विकल्प नंबर-1:  ये है कि सपा-बसपा-टीएमसी UPA में शामिल हो जाएं तो उसकी सीटें हो जाती हैं 269 सीटें यानी बहुमत के आंकड़े से तीन सीटें कम ऐसे में सरकार बन सकती है. NDA घटकर 219 हो जाएगी यानी बहुमत से 55 सीटें कम तो सरकार बचाना मुश्किल होगा.वोट प्रतिशत से देखें तो UPA को 44%, NDA को 35% और बाकी दलों को 21% वोट मिलने का अनुमान है.

विकल्प नंबर-2: अगर AIADMK और YRS कांग्रेस NDA में शामिल हो जाती हैं तो सीटों की संख्या हो जाती है 234. ऐसे में NDA को बहुमत के लिए 38 सीटें और चाहिए. वहीं अगर UPA में सपा, बसपा, तृणमूल कांग्रेस के अलावा पीडीपी भी शामिल हो जाती है तो UPA को बहुमत मिल रहा है यानी 272 सीटें मिल रही हैं. यानी UPA सरकार बना सकता है.

विकल्प नंबर-3: NDA में AIADMK, YRS कांग्रेस, बीजू जनता दल और टीआरएस मिलती हैं तो भी NDA को बहुमत नहीं मिल रहा है ये सब मिलाकर 257 सीटें होती हैं और वहीं दूसरी तरफ UPA में अगर सपा, बसपा, टीएमसी, पीडीपी के अलावा कोई और दल नहीं शामिल नहीं होता है तब भी बहुमत का आंकड़ा 272 मिल जाता है तो सरकार UPA बना सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.