प्रियंका गांधी की अग्निपरीक्षा शुरु होती है अब…

‘हमारी पार्टी में कोई भी निर्णय इस बात से नहीं होते हैं कि एक व्यक्ति या एक परिवार क्या चाहता है, और इसलिए कहा जाता है कि देश में ज्यादातर मामलों में परिवार ही पार्टी है, लेकिन भाजपा में पार्टी ही परिवार है।’

‘मेरा बूथ, सबसे मजबूत’ मिशन के तहत भाजपा कार्यकर्ताओं को प्रधानमंत्री ने प्रियंका का नाम लिए बगैर ये संदेश दिया कि वो क्या सोचते हैं कांग्रेस के दांव के बारे में. उन्होंने ये भी स्पष्ट किया कि ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का मतलब कांग्रेस कल्चर को खत्म करने से है.

पीए मोदी का ये बयान क्या संकेत देता है. ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का मतलब समझाने की जरूरत क्यों आन पड़ी है. ये अलहदा मसला है लेकिन एक बात तो साफ है कि पीएम मोदी कांग्रेस के ऊपर अब खुलकर वंशवाद का वार करेंगे. यहां प्रियंका को कई हमले झेलने होंगे मसलन,

  1. पति राबर्ट वाड्रा से जुड़ी कथित वित्तीय अनियमितताओं के आरोप.
  2. राहुल गांधी की कथित नाकामी के चलते राजनीति में एंट्री का जवाब.
  3. कांग्रेस के ऊपर लगा एक परिवार की पार्टी के टैग का क्या करेंगी ?

पीएम मोदी और बीजेपी के तमाम नेताओं ने प्रियंका की राजनीति में सक्रिय एंट्री को ये कहकर घेरने की कोशिश की है कि ये राहुल की नाकामी और एक परिवार की पार्टी है. 1960 के दशक में नेहरू और इंदिरा (पिता-पुत्री), 1970 के दशक में इंदिरा-संजय (मां-छोटे बेटे), 1980 के दशक में इंदिरा-राजीव (मां-बड़े बेटे), 2004 के बाद सोनिया-राहुल (मां-बेटे) 2019 में राहुल-प्रियंका (बहन-भाई) तो परिवारवाद प्रियंका को परेशान कर सकता है.

पीवी नरसिम्हा राव, 1996 तक, 1996 से 1998 तक सीताराम केसरी जैसे नेताओं को छोड़ दें तो कोई भी गांधी परिवार के बाहर का आदमी पार्टी का सर्वेसर्वा नहीं रहा लिहाजा इस बात को लेकर बीजेपी कांग्रेस को घेरेगी इसका जवाब प्रियंका को देना होगा. दूसरी जो अगह बात है प्रियंका के लिए वो उनके पति के ऊपर लग रहे आरोप.

प्रियंका की प्रत्यक्ष राजनीति में एंट्री ऐसे वक्त में हुई है जब रॉबर्ट वाड्रा को कथित मनी लांड्रिंग और ज़मीन घोटाले के मामले में ईडी को नोटिस मिला है. एक नोटिस वाड्रा की मां मौरिन को भी भेजा गया है. प्रियंका की मां सोनिया और भाई राहुल पहले से ही नेशनल हेराल्ड मामले में जमानत पर हैं. तो बीजेपी भ्रष्टाचार के मामलों में भी प्रियंका गांधी को घेरेगी. इसका जवाब उन्हें देना होगा. अगर इस तरह की परीक्षाओं में प्रियंका पास हो गईं तो कांग्रेस के लिए कुछ अच्छी खबर यूपी से आ सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.