Honeymoon Kidnapping: लड़कियां लड़कों का किडनैप करके मना रही हैं हनीमून, दहशत में लड़के!

honeymoon kidnaping

Honeymoon Kidnapping: बिहार में इन दिनों अजीब सी दहशत का माहौल है. लड़कों को डर रहा रहा है कि कहीं कोई लड़की उनकी किडनैपिंग न कर ले. दरअसल ऐसी खबरें आ रही हैं कि लड़कियों यहां लड़कों को किडनैप करके उनके साथ हनीमून मना रही हैं.

Honeymoon Kidnapping: बिहार पुलिस के पास ऐसे मामलों की लंबी फेहरिस्त है जिनमें लड़के भगाने के मामले शामिल हैं. पुलिस की एक रिपोर्ट के अनुसार बिहार में प्रेम संबंध में इस साल पहले छह माह में शादी के लिए भागने वाले ऐसे 1870 मामले सामने आए है. ज्यादातर मामलों में लड़की, लड़के को लेकर भागी. बिहार में हाल के महीनों में ऐसी घटनाएं तेजी से बढ़ीं हैं, जिसमें लड़की के घरवाले उसके गायब होने पर अपहरण की प्राथमिकी दर्ज करवाते हैं. लेकिन, मामला जब सुलझता है तो वह प्रेम प्रसंग से जुड़ा होता है जिसमें लड़की खुद ही अपने प्रेमी के साथ फरार हुई होती है.

ऐसे प्रकरणों से पुलिस तंग-तबाह है. इन्हीं मामलों को हनीमून किडनैपिंग यानि शादी के लिए अपहरण की संज्ञा दी गई है. यह शब्द पुलिस द्वारा गढ़ा गया है जिसका उपयोग वे शादी के लिए घर से लड़के-लड़कियों के भागने वाले मामले के लिए करते थे. समय के साथ परिदृश्य बदल रहा है, पहले लड़की को लेकर लड़का फरार होता था, अब प्रेमिका ही प्रेमी को लेकर भाग रही है. वे खुलेआम इसका एलान कर पुलिस से हड़बड़ी में लड़के के परिवार वालों के खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई नहीं करने का अनुरोध भी कर रही हैं.

सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर वायरल ऐसे मामलों से समाज विज्ञानी हतप्रभ हैं. पुलिस की एक रिपोर्ट के अनुसार बिहार में प्रेम संबंध में इस साल पहले छह माह में शादी के लिए भागने वाले ऐसे 1870 मामले सामने आए. अगर प्रतिदिन के हिसाब से देखें तो औसतन ऐसे दस मामले रोजाना सामने आ रहे हैं. इस प्रकार औसतन हर ढाई घंटे में एक प्रेमी युगल घर से फरार हो रहा है. इस साल अब तक हनीमून किडनैपिंग के 2778 मामले दर्ज हो चुके हैं. नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के अनुसार इस मामले में बिहार दूसरे नंबर पर है. जहां 2020 में 5308 ऐसी घटनाएं हुईं थी, वहीं 2021 में 6589 मामले सामने आए.

स्मार्टफोन व इंटरनेट के प्रसार के कारण युवा अब 15-16 साल में ही सब कुछ जानने लगे हैं, क्योंकि इंटरनेट पर हर अच्छी-बुरी चीज उपलब्ध है. वे इसी से दिग्भ्रमित हो रहे हैं. इसलिए गायब होने वाली अधिकतर लड़कियां 15 से 20 साल की होती हैं.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. https://rajniti.online/ पर विस्तार से पढ़ें देश की ताजा-तरीन खबरें

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.