केदारनाथ: शर्म से पानी पानी हो जाएंगे, तीर्थयात्रियों ने ऐसा भद्दा काम किया है

केदारनाथ न सिर्फ हम सबके लिए तीर्थ स्थल है बल्कि हमारी आस्था का केंद्र भी है. मगर इस बार यहां जो लोग दर्शनों के लिए पहुंचे उन्होंने बाबा केदार को अपवित्र करने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

केदारनाथ में हम बाबा केदार के दर्शनों के लिए जाते हैं और आशा करते हैं कि भगवान हमें शुद्ध करेंगे. लेकिन इस बार तो हद ही हो गई भक्तों ने इस तीर्थ स्थल को अशुद्ध करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. Char Dham Yatra 2022 की शुरुआत में प्रशासन ने तमाम इंतजाम किए थे लेकिन केदारनाथ धाम में यात्रा के चलते भारी मात्रा में प्लास्टिक कचरा जमा हो रहा है। अब तक केदारनाथ में करीब आठ सौ बैग प्लास्टिक कचरा जमा हो गया है। यात्रा धीमी पड़ने पर प्लास्टिक कचरा नीचे अगस्तमुनि लाया जाएगा। केदारनाथ धाम में सफाई को लेकर प्रधानमंत्री की चिंता के बाद प्रशासन हरकत में आ गया है।

जिला प्रशासन, शहरी विकास विभाग और जिला पंचायत के साथ मिलकर लगातार धाम और यात्रा मार्ग पर सफाई कर रहा है। शहरी विकास ने धाम में सफाई की निगरानी के लिए सहायक निदेशक विनोद कुमार को बतौर नोडल अधिकारी नियुक्त किया हुआ है। विनोद कुमार ने बताया कि प्लास्टिक कूड़ा (सॉलिड वेस्ट) अलग छांट कर जमा किया जा रहा है।

केदारनाथ में ऐसे चल रहा है सफाई अभियान

धाम में करीब ढाई सौ बैग में प्लास्टिक कूड़ा जमा किया गया है, जबकि घोड़ा पडाव पर भी छह सौ से अधिक बैग भरे पड़े हैं। उन्होंने बताया कि अभी घोड़ों की अनुपलब्धता के चलते कूड़ा नीचे नहीं ला जा सकता है। जुलाई में यात्रा धीमी पड़ने पर इसे अगस्तमुनि लाया जाएगा। इधर, जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी राजेश कुमार ने अवगत कराया कि जिला पंचायत लगातार यात्रा मार्ग बैरांगना, मैखंडा, फाटा हैलीपैड़, मैन बाजार फाटा में सफाई करवा रहा है।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. https://rajniti.online/ पर विस्तार से पढ़ें देश की ताजा-तरीन खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published.