नूपुर शर्मा के चक्कर में PM मोदी से क्या गलती हुई जिससे BJP परेशान है?

बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने प्रोफेट मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी की और उसके बाद भारत सरकार बैकफुट पर आ गई. अब हालात ऐसे हैं कि बीजेपी के भीतर भी इस पर कोई बोलने को तैयार नहीं है. क्या इस मामले में पीएम मोदी से गलती हो गई है.

भारत की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी अपने एक प्रवक्ता के इस्लाम के आख़िरी पैगंबर, पैग़बर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी देने को लेकर कूटनीतिक मुश्किलों का सामना कर रही है. बीजेपी की प्रवक्ता रही नूपुर शर्मा ने ये टिप्पणी क़रीब दस दिन पहले एक भारतीय टीवी चैनल में हुई डिबेट में  की थी. उनकी इस टिप्पणी भारतीय मुसलमानों और 12 से अधिक देशों में आपत्ति जताई. रविवार को बीजेपी ने नूपुर शर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया. उनके साथ-साथ पार्टी के दिल्ली मीडिया यूनिट के प्रभारी नवीन कुमार जिंदल को नूपुर शर्मा के बयान वाले पोस्ट को ट्वीट करने के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया.

कौन है नूपुर शर्मा?

  • नूपुर शर्मा ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के क़ानून विभाग से अपनी पढ़ाई की है.
  • उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत साल 2008 में उस वक्त की जब वो अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) की उम्मीदवार के तौर पर दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ की अध्यक्ष चुनी गईं.
  • लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स के इंटरनेशनल बिज़नेस लॉ में मास्टर्स करने के बाद वो भारत लौटीं.
  • जिसके बाद साल 2011 में उनके राजनीतिक कैरियर का ग्राफ़ तेज़ी से आगे बढ़ने लगा.
  • 2013 के दिल्ली विधानसभा चुनावों में बीजेपी की मीडिया कमिटी में उन्होंने अपनी जगह बनाई.
  • दो साल बाद जब फिर से चुनाव कराए गए तो वो आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के ख़िलाफ़ बीजेपी की तरफ से चुनावी अखाड़े में उतारी गईं.
  • ये ऐसा चुनाव नहीं था जिसमें नूपुर शर्मा से जीतने की उम्मीद की गई थी, लेकिन उनका जोशीला चुनाव अभियान उन्हें एक बार फिर चर्चा के केंद्र में लेकर आया.
  • उन्हें आधिकारिक तौर पर दिल्ली का पार्टी का प्रवक्ता बनाया गया और फिर 2020 में उन्हें बीजेपी की “राष्ट्रीय प्रवक्ता” बनाया गया.

जब पीएम मोदी से मेरी तारीफ

बीते दिनों नूपुर शर्मा के कई समर्थकों ने ट्विटर पर उनका एक छोटा वीडियो शेयर किया है, जिसमें उन्होंने अपने साथ टीवी डिबेट में शामिल एक पैनलिस्ट को ‘दोगला और झूठा’ बताते हुए उन्हें ‘चुप रहने’ के लिए कहा. जब नूपुर ने वो वीडियो अपने ट्विटर टाइमलाइन में शेयर किया, जहां उनके 5 लाख समर्थकों में से एक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हैं तो उनके समर्थकों ने उनकी तारीफ़ की और उन्हें “शेरनी, बहादुर और निडर लड़ाका” कहा.

बीते दिनों नूपुर शर्मा के ‘ईशनिंदा वाली टिप्पणी’ को लेकर उन्हें गिरफ्तार किए जाने की मांग हो रही है और विपक्षी पार्टियों के सरकार वाले राज्यों में इस मामले को लेकर उनके ख़िलाफ़ जांच भी शुरु की गई है. लेकिन पूर्व बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के निलंबन के बाद से उनका समर्थन बढ़ रहा है. सोशल मीडिया पर #ISupportNupurSharma और #TakeBackNupurSharma जैसे हैशटैग रोज़ ही ट्रेंड कर रहे हैं हज़ारों और लोग उनकी प्रशंसा भी कर रहे हैं. यकीनन यह समर्थन पीएम मोदी के लिए मुश्किलें खड़ी करेगा क्योंकि एक तरफ उनके सामने उनके समर्थक हैं तो दूसरी तरफ दुनिया के हो ताकतवर देश जिनसे भारत व्यापार करता है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. https://rajniti.online/ पर विस्तार से पढ़ें देश की ताजा-तरीन खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published.