डायबिटीज के मरीज नाश्ते में शामिल करें यह 4 चीजें, मिलेगा चमत्कारिक फायदा

भारत में डायबिटीज के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं. देश में करीब 77 मिलियन लोग मधुमेह की बीमारी से ग्रसित हैं। पूरी दुनिया में भारत दूसरे स्थान पर है, जहां डायबिटीज के सबसे अधिक मरीज हैं और एक्सपर्ट्स मानते हैं कि अगले तीन दशक में यह आंकड़ा 134 मिलियन को छू सकता है। 

यकीनन इन आंकड़ों को देखकर डर लगना स्वाभाविक है लेकिन भारत में डायबिटीज के मरीज क्यों बढ़ रहे हैं हमें इस बात को भी समझना जरूरी है. एक्सपर्ट्स कहते हैं किसके लिए गति हीन जीवन शैली जिम्मेदार है. और अगर हमें देश में डायबिटीज और ब्लड प्रेशर के मरीजों की संख्या कम करनी है तो इसके लिए लोगों के लाइफ स्टाइल में परिवर्तन लाना होगा.

डायबिटीज के रोगियों में ब्लड शुगर लेवल अनियंत्रित रूप से प्रभावित होता है। जब खून में ग्लूकोज का स्तर बढ़ जाता है तो इस स्थिति को हाइपरग्लाइसेमिया कहा जाता है। बॉडी में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ने के कारण हार्ट अटैक, किडनी फेलियर, मल्टीपल ऑर्गन फेलियर और स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ जाता है। लेकिन हम इससे अपने खान-पान को सुधार कर बच सकते हैं. इसके लिए हमें अपने नाश्ते में चार चीजें शामिल करने की जरूरत है.

डायबिटीज के मरीज नाश्ते में शामिल करें यह 4 चीजें

मल्टीग्रेन टोस्ट: मधुमेह के रोगियों को मल्टीग्रेन या फिर होल ग्रेन टोस्ट आदि का सेवन करना चाहिए। इससे ब्लड शुगर लेवल नहीं बढ़ता। आप अपने नाश्ते में मल्टीग्रेन टोस्ट को शामिल कर सकते हैं।

ओट्स: फाइबर से भरपूर ओट्स का ग्लाइसेमिक इंडेक्स बेहद ही कम होता है। इसलिए नाश्ते में ओट्स का सेवन करने से कैलोरी की मात्रा नियंत्रित रहती है और ब्लड शुगर लेवल भी कंट्रोल में रहता है। 

अंडा: मधुमेह के रोगियों के लिए अंडा बेहद ही फायदेमंद हो सकता है। द ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार हाई प्रोटीन ब्रेकफास्ट खाने से खून में ग्लूकोज का स्तर मेनटेन रहता है।

लो कार्ब डाइट: हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों में शरीर ग्लूकोज को ऊर्जा में तोड़ने की क्षमता पूरी तरह से खत्म हो जाती है, जिसके कारण ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। इसलिए टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों को लो कार्बोहाइड्रेट वाले फूड्स का सेवन करना चाहिए।

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. rajniti.online पर विस्तार से पढ़ें देश की ताजा-तरीन खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *