शिवपाल को मुलायम सिंह यादव ने दिया ज्ञान, क्या है अखिलेश के चाचा का प्लान?

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले सबकी नजरें इस बात पर भी टिकी हैं कि शिवपाल सिंह यादव और अखिलेश यादव एक दूसरे के लिए क्या रणनीति अपनाएंगे. इसी कड़ी में शिवपाल और मुलायम सिंह यादव के बीच एक महत्वपूर्ण बैठक हुई है.

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने बुधवार को बरेली में एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि मुलायम सिंह यादव ने इस बात का आश्वासन दिया है कि आगामी चुनावों से पहले अखिलेश यादव मान जाएंगे। उन्होंने बताया कि मुलायम सिंह यादव ने यह भी कहा है कि अगर समाजवादी पार्टी के नेता नहीं मानते हैं तो वह खुद प्रसपा के चुनाव प्रचार अभियान में हिस्सा लेंगे। बताते चलें कि शिवपाल इन दिनों रथयात्रा लेकर निकले हैं।

शिवपाल यादव ने यह बात एक इंटरव्यू के दौरान भी दोहराई थी। उन्होंने बताया था कि परिवार में चल रहे तनातनी के बीच मैंने एक बार मुलायम सिंह यादव से अनुरोध किया था कि एक बार अखिलेश को बुलाकर समझा दें, तब नेता जी ने हमसे कहा था कि अगर अखिलेश यादव मेरी बात मानते हैं तो ठीक है.. नहीं तो हम तुम्हारा प्रचार कर देंगे। उन्होंने यह भी कहा था कि मैंने मुलायम सिंह यादव के कहने पर ही नई पार्टी बनाई थी।

क्या अखिलेश नहीं दे रहे चाचा को भाव?

शिवपाल यादव भतीजे अखिलेश को लेकर पहले भी कई बार डेडलाइन दे चुके हैं लेकिन अखिलेश यादव इस डेड लाइन को बहुत तवज्जो नहीं दे रहे. अखिलेश छोटे दलों के साथ अपने परिधि को बढ़ाने में जुटे हैं। इसी कड़ी में उन्होंने पूर्वांचल के राजभर मतदाताओं में अच्छा-खासा प्रभाव रखने वाली सुभासपा ने आगामी राज्य विधानसभा चुनाव गठबंधन कर लड़ने का औपचारिक ऐलान किया। साथ ही, दोनों दलों ने राज्य में भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ ‘खदेड़ा होवे’ का आह्वान किया।

2017 के विधानसभा चुनाव में चाचा भतीजे के बीच हुए विवाद का खामियाजा समाजवादी पार्टी ने भुगता था. कई दिनों तक चले पारिवारिक ड्रामे का असर चुनावों पर भी देखने को मिला था। इसके बाद से अखिलेश इस विषय पर चुप्पी साधे बैठे हैं, वहीं चाचा शिवपाल सार्वजनिक तौर पर साथ आने की बात कई बार कह चुके हैं। अब क्या एक बार फिर से मुलायम सिंह यादव का दखल चाचा भतीजे के बीच की खाई को कम कर पाएगा सभी की निगाहें इस पर टिकी है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. rajniti.online पर विस्तार से पढ़ें देश की ताजा-तरीन खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *