भारत में ‘लोन वोल्फ’ अटैक की तैयारी कर रहा है इस्लामिक स्टेट

इस्लामिक स्टेट के मुखिया बगदादी को अमेरिका ने जरूर मार दिया है लेकिन उसका आतंक अभी भी बरकरार है. यह आतंकी संगठन फिर से खड़ा होने के लिए भारत को निशाना बना सकता है. गृह मंत्रालय की ओर से यह कहा गया है कि इस्लामिक स्टेट भारत में फिदायीन हमले कराने की तैयारी में है.

गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को यह अलर्ट जारी किया है इस्लामिक स्टेट भारत में बड़े पैमाने पर लोन वोल्फ अटैक कराने की तैयारी कर रहा है. गृह मंत्रालय ने सभी सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट रहने के लिए कहा हैखुफिया विभाग की ओर से मिले इनपुट्स की ओर से यह कहा जा रहा है इस्लामिक स्टेट अगले साल रिपब्लिक डे से पहले लोन वोल्फ अटैक कराने की फिराक में है.

गृह मंत्रालय की ओर से पूरे देश में सभी राज्यों को यह सूचना दी गई है कि वह व्यवस्थाओं को चाक-चौबंद रखें. इस्लामिक स्टेट के आतंकी पाकिस्तान और पाकिस्तान अफगानिस्तान के रास्ते भारत में हमला कराने की तैयारी कर रहे हैं. गृह मंत्रालय की ओर से जारी पत्र में यह भी कहा गया है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा, जैश ए मोहम्मद और दूसरे आतंकी संगठनों को मदद पहुंचा रही है.

कैसे हो सकता है हमला?

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की कोशिश है कि वह पाकिस्तान में मौजूद कट्टरपंथी आतंकी संगठनों और भारत में मौजूद आतंकियों की मदद से हम लोग को अंजाम देंइन हमलों को अंजाम देने के लिए आई एस आई सभी तरह की मदद दे रही है. आपको बता दें कि इससे पहले देश के प्रधानमंत्री समेत कुछ खास लोगों को निशाना बनाने के लिए भी आतंकियों ने प्लानिंग की थी. गृह मंत्रालय के मुताबिक अपनी इस प्लानिंग को अंजाम देने के लिए आतंकी तैयारी कर रहे हैं और 26 जनवरी से पहले वह इन हमलों को अंजाम देना चाहते हैं.

आतंकी संगठन अपने इस काम के लिए उन युवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं जिनको सोशल मीडिया या फिर दूसरे माध्यमों से आतंक के लिए प्रेरित किया गया है. इस्लामिक स्टेट ने 2014 के बाद से भारत में बड़े पैमाने पर युवाओं को रेडिकलाइज करने में कामयाबी हासिल की थी और अब वह इसी का फायदा उठाते हुए इन हमलों को अंजाम देना चाहता है. आतंकियों ने श्रीलंका और मालदीव के रास्ते भारत में घुसपैठ करके हथियार और फ़िदा ईनो को तैयार किया है .गृह मंत्रालय की ओर से यह भी कहा गया है कि आतंकी केरला और तमिलनाडु में समंदर के रास्ते भारत में घुस सकते हैं.

यह भी पढ़ें:

इन हमलों को रोकने के लिए बंदरगाहों, हवाई अड्डा, बस अड्डा और दूसरी व्यस्त जगहों पर सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त करने की जरूरत है. आतंकियों के मंसूबों को कामयाब न होने देने के लिए गृह मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा है 26 जनवरी तक किसी भी तरह की कोताही न बरती जाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *