‘राहुल गांधी राजनीतिक नौसिखिया, नहीं खत्म हो रहा है इंटर्नशिप’

Will everything be cured in the Congress by leaving Rahul Gandhi's president?

कांग्रेस के करीबी रहे पंकज शंकर ने राहुल गांधी पर निशाना साधा है राहुल गांधी को राजनीतिक नौसिखिया करार देते हुए उन्होंने कहा है कि उनकी इंटर्नशिप खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही.

राहुल गांधी की क्षमताओं और कार्यशैली पर एक बार फिर से एक कांग्रेसी नेता ने सवाल खड़े किए हैं. कांग्रेस के करीबी रहे पंकज शंकर ने कहा है कि राहुल गांधी राजनीतिक नौसिखिया हैं उनके नेतृत्व में कांग्रेस 3 अंकों से सिमट कर दो अंको पर आ गई. इस दौरान पंकज शंकर ने यह भी कहा कि अगर पार्टी का नेतृत्व प्रियंका गांधी के हाथ में होता तो बात कुछ और होती और पार्टी आगे बढ़ रही होती.

पंकज शंकर ने यह भी कहा कि राहुल गांधी ऐसी इंटर्नशिप कर रहे हैं जो खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही. उन्होंने कहा, “राहुल गांधी 2004 में सक्रिय राजनीति में आए थे लेकिन यह 2019 चल रहा है. यूथ कांग्रेस और एनएसयूआई में भी नए प्रयोग किए गए. आम चुनाव में अमेठी का परिणाम उनके पक्ष में नहीं रहा. अब अगला प्रयोग क्या होगा? बस अब पार्टी रह गई है. पुत्रमोह ही तो है ये।”

प्रियंका संभाले पार्टी की कमान

पंकज शंकर ने अपने बयान में प्रियंका गांधी को पार्टी की कमान दिए जाने की वकालत की. उन्होंने कहा कि इस वक्त अगर आप देश में किसी भी कांग्रेसी नेता या कांग्रेसी कार्यकर्ता से पूछें कि पार्टी की कमान किसे दी जानी चाहिए तो वह प्रियंका गांधी का ही नाम लेगा उनका है कि राहुल गांधी ने 2004 में कमान संभाली थी और तब से पार्टी लगातार रसातल में ही जा रही है इसलिए प्रियंका गांधी को अब कांग्रेस की कमान दी जानी चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *