डेल स्टेन का वो स्पैल जिसने सचिन तेंदुलकर को क्रीज से हिलने नहीं दिया

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने एक बड़ा खुलासा करते हुए कहा है कि उन्होंने डेल स्टेन को उस वक्त खेला है जब अपने चरम पर थे और उन्होंने स्टेन को वो स्पैल भी याद है जब एक घंटे तक वो क्रीज पर स्ट्राइक नहीं बदल पाए थे.

सचिन तेंदुलकर ने अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में एक बड़ा खुलासा किया. उन्होंने डेल स्टेन के संन्यास पर बोलते हुए कहा कि उन्होंने डेल स्टेन का सबसे खतरनाक स्पैल झेला है. विश्व कप 2019 के बाद से ही दुनिया भर के कई खिलाड़ियों ने संन्यास लिया है उनमें साउथ अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन भी शामिल हैं. अपनी गेंदबाजी से दुनिया भर के दिग्गजों का विकेट चटकाने वाले स्टेन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के टेस्ट प्रारूप को अलविदा कह दिया है. उन्होंने 93 टेस्ट मैचों में 439 विकेट लिए थे.

ये भी पढ़ें:

डेल स्टेन एक शानदार गेंदबाज हैं और सचिन तेंदुलकर ने बताया कि वो क्यों शानदार हैं. क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर कहा है कि उन्होंने स्टेन का सबसे घातक स्पैल खेला है. उन्होंने टाइम्स ऑफ़ इंडिया के साथ बातचीत के दौरान सचिन ने स्टेन के ना भूलने वाले स्पेल के बारे में कहा,

 ” मुझे अभी भी वो स्पेल याद है जब 2011 केपटाउन टेस्ट में डेल स्टेन ने जबरदस्त गेंदबाजी की थी। गौतम गंभीर और मैं लगभग 1 घंटे तक स्ट्राइक नहीं रोटेट कर सके थे। मैं कह सकता हूं, वो एक घंटा, मेरे क्रिकेटिंग करियर के सबसे रोमांचक, दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण घंटों में से एक था।”

जब स्टेन अपने चरम पर थे, तो वह 150 किमी / घंटा के करीब गेंदबाजी करते थे। उस गति से उन्हें जो स्विंग मिलती थी, वह अविश्वसनीय थी। इसलिए उनकी स्विंग को खेलना इतना आसान नहीं था। यही खासियत थी जो स्टेन को सबसे अलग गेंदबाज बनाती थी।”

स्टेन रिटायरमेंट के बाद तेंदुलकर उन्हें बधाई दी और कहा है कि मैंने डेल स्टेन के विरुद्ध खेलने का लुत्फ़ उठाया, और उन्हें शानदार करियर के लिए बधाई।. डेल स्टेन उन तेज गेंदबाजों में से थे जिन्हें खेलना आसान कभी नहीं रहा. हालांकि कि वो पिछले कुछ दिनों से फिटनेस से जूझ रहे थे और इसकी वजह से उन्होंने टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.