टीम इंडिया में फूट के मायने क्या हैं, अब गावस्कर को मांजरेकर का जवाब

टीम इंडिया में सबकुछ ठीक नहीं नहीं चल रहा है. कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा के बीच विवाद की खबरें आ रही हैं. गावस्कर ने टीम सलेक्टर्स पर सवाल खड़े किए हैं और अब चर्चित कमेंटेटर संजय मांजरेकर ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को लेकर पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर की टिप्पणी से असहमति जताई है.

दरअसल सुनील गावस्कर ने प्रोटोकॉल को लेकर सवाल खड़े किए थे. एक लेख में सुनील गावस्कर ने इस पर सवाल उठाया था कि वेस्टइंडीज दौरे के लिए चयनकर्ताओं ने बिना कोई बैठक किए ही विराट कोहली को कप्तान बनाए रखने का ऐलान कर दिया. यह दौरा तीन अगस्त से शुरू हो रहा है. सुनील गावस्कर ने साफ कहा है कि चयन समिति कमजोर है. सुनील गावस्कर ने अपने लेख में कहा कि केदार जाधव और दिनेश कार्तिक जैसे खिलाड़ियों को उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन न करने के आधार पर बाहर कर दिया गया, लेकिन विराट कोहली की कप्तानी जारी है जबकि टीम के मुखिया के तौर पर उनका प्रदर्शन उम्मीदों से कहीं नीचे रहा है.

सुनील गावस्कर ने अपने लेख में टीम इंडिया में जो कुछ भी हो रहा उसको लेकर तफ्सील से बात की है. सुनील गावस्कर ने यह भी कहा कि विराट कोहली सिर्फ विश्व कप तक के लिए कप्तान थे और इसके बाद चयन समिति को पांच मिनट के लिए ही सही, पर एक बैठक करनी चाहिए थी और उसमें आगे का फैसला करना चाहिए था. सुनील गावस्कर को अब संजय मांजरेकर ने जवाब दिया है. और ट्वीट करके कहा है कि विश्व कप में टीम का प्रदर्शन उम्मीद से कहीं नीचे नहीं रहा. संजय मांजरेकर ने कहा कि भारत ने सात मैच जीते और सिर्फ दो हारे. उन्होंने आगे लिखा कि आखिरी मैच तो बहुत करीबी था. इसलिए इस तरह के सवाल नहीं उठाए जाने चाहिए.

आपको बता दें कि रोहित शर्मा और टीम इंडिया में पड़ी फूट की खबरों को लेकर विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फैंस की थी और कहा था कि ऐसा कुछ भी नहीं है. विराट कोहली के साथ टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री भी थे. टीम इंडिया को वेस्टइंडीज के दौरे से पहले कई परेशानियों से जूझना पड़ रहा है और ऐसे में गावस्कर-मांजरेकर विवाद भी बढ़ सकता है.  

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.