क्या है ‘कैफे कॉफी डे’ के मालिक के मरने की असली वजह?

सीसीडी या कैफे कॉफी डे के बारे में तो आप जानते ही होंगे. आप अपने किसी साथी के साथ यहां कॉफी का आनंद लेने गए भी होंगे. अगर आप कैफ कॉफी डे में गए हों तो आपको बता दें कि भारत की सबसे बड़ी कॉफ़ी चेन कैफ़े कॉफ़ी डे जिसे सीसीडी के नाम से भी जाना जाता है, इस कंपनी के मालिक वी जी सिद्धार्थ लापता हो गए हैं.

वी जी सिद्धार्थ कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एस एम कृष्णा के दामाद हैं. सोमवार रात से वो लापता हैं. वो कहां गए इसके बारे में किसी को पता नहीं चल पाया है. बताया जा रहा है कि उन्होंने आत्महत्या करने के लिए नदी में छलांग लगा दी है. मैंगलोर पुलिस वीजी सिद्धार्थ को तलाश रही है. बताया जा रहा है कि वी जी सिद्धार्थ अपनी कार में बैठकर मैंगलोर के बाहरी इलाके तक गए और वहां नेत्रावती नदी के करीब पहुंचने पर उन्होंने ड्राइवर से कार रोकने को कहा. इसके बाद उनका कुछ भी पता नहीं चल पाया है.

नदी के करीब पहुंचकर वीजी ने अपने ड्राइवर से लौट जाने के लिए कहा था. गाड़ी से उतरकर वो पैदल चलने लगे. काफी देर बाद तक जब वी जी सिद्धार्थ लौटकर नहीं आए तो ड्राइवर ने इसकी सूचना बाकी लोगों को दी. बताया जा रहा है कि उनके मोबाइल पर भी कॉल करने की कोशिश की गई लेकिन उनका फोन बंद था. मैंगलोर के पुलिस कमिश्नर संदीप पाटिल ने जानकारी दी है कि दो टीमों को नदी में खोजी अभियान के लिए भेजा गया है.

काफी लोकप्रिय है सीसीडी

सीसीडी यानी कैफे कॉफी डे की पूरे भारत में करीब 1,750 कैफे हैं. इसके अलावा मलेशिया, नेपाल और मिस्र में भी सीसीडी के कैफ़े हैं. पिछले दो साल में लगातार बढ़ती प्रतिस्पर्धा के चलते सीसीडी को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा था. कंपनी ने कई जगहों पर अपने छोटे आउटलेट बंद भी कर दिए थे. खबरें ये भी आईं थी कि वी जी सिद्धार्थ सीसीडी को कोका कोला कंपनी में बेचने के बारे में सोच रहे थे. उन्होंने अपने कर्मचारियों को भी चिट्ठी लिखी है जिसमें उन्होंने अपने दिल की कई बातों का जिक्र किया है.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.