अमित शाह ने साधा ममता बनर्जी पर निशाना, कहा उल्टी गिनती शुरु हो गई

अमित शाह और नरेंद्र मोदी

पश्चिम बंगाल में अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा के बाद टीएमसी पद यात्रा कर रही है तो अमित शाह ने दिल्ली में बीजेपी मुख्यालय में प्रेस कांफ्रैस करके टीएमसी और ममता बनर्जी पर निशाना साधा. और कहा कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की उल्टी गिनती शुरु हो चुकी है.

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि अब तक चुनाव के 6 चरण समाप्त हो चुके हैं, इनमें सिवाय बंगाल के कहीं भी हिंसा नहीं हुई. वह ममता जी को बताना चाहते हैं कि आप सिर्फ 42 सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं और भाजपा देश के सभी राज्यों में मगर कहीं पर भी हिंसा नहीं हुई, लेकिन बंगाल में हर चरण में हिंसा हुई इसका साफ़ मतलब है कि हिंसा टीएमसी कर रही है. रोड शो से पहले ही वहां लगे पोस्टर फाड़ दिए गए.

ईश्वरचंद विद्यालय में दार्शनिक विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने का मामला भी तूल पकड़ता जा रहा है. टीएमसी मुखिया ने जहां पर ईश्वरचंद विद्यासागर की तस्वीर अपने ट्विटर प्रोफाइल में लगाई तो वहीं टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्राएन ने तीन वीडियो पोस्ट करके मूर्ति तोड़ने का आरोप बीजेपी कार्यकर्तांओं पर लगाया.

बीजेपी अध्यक्ष ने इस आरोप पलटवार करते हुए एक तस्वीर दिखाई और कहा कि विद्यालय में लगी मूर्ति टीएमसी के लोग तोड़े हैं. कालेज का कमरा किसने खोला. चाबी किसके पास थी. इस कालेज के प्रशासन पर टीएमसी का कब्जा है इसलिए यह सब ममता के लोगों ने किया है.

twitter

वोट की राजनीति के लिए प्रतिमा को तोड़ने के बाद ममता की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है. रोड शो में जिस तरह का जनसैलाब देखने को मिला है उससे तय है कि ममता बंगाल में चुनाव हारने जा रही हैं.

चुनाव जीतने का तरीका मुझसे सीखें

अमित शाह ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा है कि चुनाव जीतने के लिए ममता दीदी ऐसी घटनाएं करवा रही हैं. उन्होंने कहा कि दीदी, ऐसी चीजों से चुनाव नहीं जीते जाते हैं. चुनाव लड़ने और लड़ाने का अनुभव मेरे पास आपसे ज्यादा है. दीदी यह हिंसा फैलाने से कुछ नहीं होगा. आपने जो स्थिति बनाई है उससे बंगाल की जनता परेशान है अगर आप को चुनाव जीतने का तरीका सीखना है तो मेरे पास आकर सीख लें. अमित शाह ने ये भी कहा कि बीजेपी इस बार 300 से ज्यादा सीटें जीत रही है. अमित शाह ने कहा कि टीएमसी और कांग्रेस मिले हुए हैं.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.