नमो के नामांकन में एनडीए की एकजुटता का मतलब क्या है ?

NARENDRA MODI

करीब 20 घंटे तक काशी में नमो नाम की गूंज रही. पीएम मोदी के नामांकन में बीजेपी ने एक साथ कई निशाने साधे. बीजेपी ने मोदी की ताकत का अहसास कराया और बताया कि एनडीए का कुनबा बिखरा नहीं है. प्रधानमंत्री मोदी ने नामांकन से पहले कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और ये संकेत भी दिया कि नामांकन के बाद शायद वो प्रचार के लिए वाराणसी को समय न दे सकें.

ये भी पढ़ें:

काल भैरव के मंदिर में पूजा, रोड शो और गंगा आरती पीएम मोदी ने काशी में 2014 को दोहराने की कोशिश की है. सुषमा स्वराज, अमित शाह, नितिन गडकरी, राजनाथ सिंह और योगी आदित्यनाथ जैसे वरिष्ठ बीजेपी नेताओं के अलावा शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल, बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू नेता नीतीश कुमार, लोजपा नेता रामविलास पासवान और अपना दल की नेता अनुप्रिया पटेल काशी में करिश्मा करने के इरादे से उतरे थे.

NDA की एकजुटता का मतलब

यहां ये बात भी समझिए लीजिए कि इतने सारे नेताओं को जमावड़ा इसलिए है क्योंकि पांच साल पहले जब मोदी काशी में नामांकन करने आए थे और अब जब वो नामांकन करने आए इन पांच सालों में काफी फर्क आ गया है. उन्होंने बतौर प्रधानमंत्री नामांकन किया और पांच साल बाद काम के आधार प दोबारा जिताने के लिए नामांकन किया. ये मानकर चलिए कि बीजेपी को ये लग रहा है कि उसकी सीटें बहुमत के आंकड़े से कम रह रही हैं और ऐसे में उसे साहयोगी चाहिए होंगे.

तीन चरण के मतदान के बाद बीजेपी ये बताने की कोशिश कर रही है कि वो एनडीए के अगुवा के तौर पर सभी घटक दलों को भी साथ लेकर आ रही है. वो दिखा रही है कि ये चुनाव एनडीए की ओर से ही लड़ा जा रहा है. चुनाव परिणाम से पहले अपने आप में यह बड़ा संदेश है. महाराष्ट्र में शिवसेना, तमिलनाडु में एआईएडीएमके, बिहार में जदयू और लोजपा, पंजाब में अकाली, यूपी में अपना दल ये वो दल हैं जो रूठे थे उन्हें मनाया गया और अब ये साथ में हैं ये दिखाने की कोशिश की गई.

काशी में पीएम के भाषण की बडी बातें

  1. मुझे हर पोलिंग बूथ जीतना है. जैसे श्रीकृष्ण ने गोवर्धन उठाया था, आपके प्रयत्न से हमें 21वीं सदी में भारत माँ को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है.
  2. कल सोशल मीडिया पर लोगों ने मुझे बहुत डांटा कि रोड शो बंद कर दीजिए, अपनी सुरक्षा का ध्यान रखिए.
  3. इस चुनाव में हमें कुछ रिकॉर्ड भी तोड़ने हैं. मैं चाहता हूं कि लोकतंत्र जीतना चाहिए. रिकॉर्ड ये तोड़ना है कि अब तक बनारस में, उत्तर प्रदेश में जितना मतदान हुआ है, उससे कहीं ज्यादा वोटिंग हो.
  4. इस चुनाव के दो पहलू हैं- एक है काशी लोकसभा जीतना. मेरे हिसाब से ये काम कल पूरा हो गया है. एक काम अभी बाकी है वो है पोलिंग बूथ जीतना और एक भी पोलिंग बूथ पर भाजपा का झंडा झुकने नहीं देना.
  5. आज पार्टी हमारी बढ़ी है उसका कारण टीवी या अख़बार नहीं है. हम बड़े परिवार से नहीं आये हैं, हम छोटे-छोटे कार्यकर्ता हैं. जैसे रामजी के पास पूरी वानर सेना थी, जैसे कृष्ण जी के पास ग्वाले थे, वैसे ही हम भारत माँ के सिपाही हैं.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.