‘बैड लोन्स’ जिसने दुनियाभर में भारत का नाम खराब किया

भारत को तगड़ा झटका लगा है. दुनिया की बड़ी आर्थिक शक्तियों में शुमार भारत ‘बैड लोन्स’ के परेशान हैं. हालात इतने खराब हैं कि बैड लोन्स के मामले में भारत इटली को भी पीछे छोड़ चुका है.

क्या आप जानते हैं कि बैंको ने जो कर्ज दिया है उसमें से 190 बिलियन डॉलर कर्ज ऐसा है जिसकी भरपाई होने की उम्मीद ना के बराबर है. दिसंबर महीने में ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने कहा था कि 2015 से ही बैंकों के रेशियो में गिरावट दर्ज की जाने लगी थी. भारत के पहले इटली की हालत बैड लोन्स के मामले में सबसे खराब थी लेकिन इटली ने एक साल में 360 बिलयन यूरो NPA (नॉन परफॉर्मिंग लोन) को कम करके 200 बिलयन डॉलर के स्तर पर ला दिया.

आपको बता दें कि बैड लोन्स के मामले में भारत और इटली की हालत सबसे खराब है. बैड लोन्स के मामले में इटली 9.9 फीसदी के साथ दूसरे नंबर पर है. भारत इसमें नंबर एक पर है भारत में इसका प्रतिशत 10.3 है. तीसरे नंबर पर ब्रजील 3.2% और फ्रांस 2.9 फीसदी के साथ चौथे नंबर पर हैं. भारत सरकार ने बैड लोन्स कम करने की कोशिश की लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिली. आर्थिक जानकारों ने कहा है कि बैंकों को सरकारीं चंगुल से आजाद करने की जरूत है.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.