गोवा: पर्रिकर के निधन के बाद प्रमोद सावंत बने नए मुख्यमंत्री

pramod-sawant

 ‘मैं यहां पर्रिकर जी के लिए ही हूं. वे ही मुझे राजनीति में लाए, उन्हीं के लिए मैं स्पीकर बना. उन्हीं के लिए अब सीएम बन रहा हूं.’

ये शब्द हैं गोवा के नए मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के. लंबी जद्दोजहद के बाद आखिरकार प्रमोद सावंत गोवा का मुख्यमंत्री बनाया गया है. विधानसभा अध्यक्ष रहे प्रमोद सावंत ने मंगलवार रात करीब पौने दो बजे राजभवन में पद और गोपनीयता की शपथ ली. उनके साथ 11 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई.

गोवा सरकार में यूपी की तर्ज पर दो उपमुख्यमंत्री होंगे. ये हैं महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) के सुधिन धवलिकर और गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के अध्यक्ष विजय सरदेसाई. बाकी सभी मंत्री वे ही हैं जो मनोहर पर्रिकर सरकार में भी मंत्री थे. पर्रिकर के निधन के बाद राज्य में राजनीतिक सरगर्मियों तेज हो गईं थीं. इससे पहले कांग्रेस ने गोवा में सरकार बनाने का दावा पेश किया था. कांग्रेस का कहना था कि बीजेपी के पास बहुमत नहीं है. लिहाजा उन्हें सरकार बनाने का मौका दिया जाए.

कांग्रेस के दावे के बाद केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सक्रियता दिखाई जिससे की बीजेपी की सरकार बच गई. सहयोगियों को शांत करने के लिए दो उपमुख्यमंत्रियों वाला फॉर्मूला निकाला गया. छोटे से राज्य गोवा के लिए दो उपमुख्यमंत्री होना असाधारण माना जा रहा है. 40 सदस्यों वाली गोवा विधानसभा में फिलहाल प्रभावी संख्या 36 है और भाजपा के पास 20 विधायकों का समर्थन है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.