लोकसभा चुनाव 2019: अमित शाह बिगाड़ रहे हैं महागठबंधन का खेल

AMIT SHAH

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मतदान से पहले अपना जाल बिछा दिया है. 2019 के लोकसभा चुनाव में जब ये माना जा रहा था कि बीजेपी बैकफुट पर है तब बीजेपी अध्यक्ष उन नेताओं को टारगेट कर रहे हैं जो नाखुश हैं. अमित शाह के इस दांव का काट महागठबंधन के लिए निकालना मुश्किल हो सकता है.

लोकसभा चुनाव 2019: 11 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के पहले चरण मतदान होना है. इससे पहले अमित शाह ने उन नेताओं पर फोकस करना शुरु कर दिया है जो किसी न किसी कारण अपनी पार्टी से नाराज हैं. उन्होंने जोड़तोड़ करके यूपी में प्रतिद्वंदी बसपा और सपा के नेताओं को तोड़ लिया है और बीजेपी मजबूत किया है. अमित शाह की पूरी कोशिश है कि वो महागठबंधन का गणित बिगाड़ दें. 

बीजेपी ज्वाइन कर रहे कई नेता

सपा-बसपा के कई नेताओं ने बीजेपी ज्वाइन की है. एक आकंड़े के मुताबिक बसपा से 15 बड़े नेताओं ने बीजेपी जॉइन की है. इन 15 नेताओं में से 11 नेता ऐसे हैं जिन्होंने बीएसपी के टिकट पर लोकसभा या विधानसभा का चुनाव लड़ा है. इतना ही नहीं कांग्रेस, आरएलडी और समाजवादी पार्टी के 28 नेताओं ने बीजेपी का दामन थामा है. लेकिन बसपा के ज्यादा नेताओं ने बीजेपी ज्वाइन की है.

टिकट के लिए दल-बदल

जिन नेताओं ने दलबदल किया है उनमें वो नेता ज्यादा हैं जो किसी न किसी कारण से अपने दल से खफा चल रहे थे या जिन्हें टिकट कटने का अंदेशा था. क्योंकि इस बार सपा बसपा मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं इसलिए कई सीटों पर नेताओं को चुनाव लड़ने का मौका नहीं मिल पा रहा है. लिहाजा ये नेता बीजेपी में शामिल हो रहे हैं.

बीजेपी को चाहिए जिताऊ प्रत्याशी

बीजेपी ने भी ये एलान किया है कि जो जिताऊ है उसे टिकट दिया जाएगा. उम्र और बैकग्राउंड मायने  नहीं रखता. कहा जा रहा है कि इस बार बीजेपी आपराधिक छवि वाले करीब 182 उम्मीदवार उतार सकती है.

मतदान से पहले बीएसपी के खेमें से नेताओं को अपने पाले में करना बीजेपी का यह एक गेम-प्लान है. विपक्षी दलों के कई नेता लगातार बीजेपी ज्वाइन कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.