Lok Sabha Elections 2019: आंकड़ों से समझें कौन बनेगा 23 मई को सत्ता का सिकंदर ?

लोकसभा चुनाव का एलान हो गया है. सात चरणों में वोट डाले जाएंगे. और लोकसभा चुनाव के साथ ही 4 राज्यों के विधानसभा चुनाव भी होंगे. अब सवाल सबसे दिमाग में एक ही होगा कि क्यों मोदी सरकार बनेगी या फिर इस बार बाजी कोई दूसरा मारेगा. तो चलिए आंकड़ों से समझने की कोशिश करते हैं कि आने वाले चुनाव में कौन जीतेगा.

Lok Sabha Elections 2019: क्या 16वीं लोकसभा की तरह 17वीं लोकसभा चुनाव में भी मोदी सत्ता हासिल करेंगे. क्या बीजेपी को 2014 की तरह की प्रचंड़ बहुमत मिलेगा. इस सवालों के जवाब आपको 2014 के बाद 27 राज्‍यों में हुए चुनाव के आंकड़े देंगे.

ये भी पढ़ें:

क्या कहते हैं आंकड़े ?

लोकसभा चुनाव के बाद 27 राज्‍यों के विधानसभा चुनावों में बीजेपी को 15.5 करोड़ से ज्‍यादा मत मिले जबकि कांग्रेस को 12.2 करोड़ से थोड़ा कम वोट मिले. अगर आंकड़ों पर गौर करें तो बीजेपी कांग्रेस से आगे है. लेकिन कांग्रेस को मिले वोटों की संख्‍या बढ़ी. बीजेपी के वोटों में कमी आई है लेकिन वो फिर भी कांग्रेस से आगे है. 2014 के बाद 27 राज्‍यों के चुनाव में बीजेपी को कांग्रेस से 25 फीसदी ज्‍यादा वोट मिले.

2014 के लोकसभा चुनाव की तो बीजेपी को देशभर में 16.95 करोड़ वोट यानी 31 फीसदी वोट मिले थे. कांग्रेस को 10.6 करोड़ वोट यानी 20 फीसदी वोट मिले थे. 27 राज्‍यों के चुनावों में बीजेपी को 15.5 करोड़ से ज्‍यादा करीब 28.5 फीसदी वोट मिले वहीं कांग्रेस को 12.2 करोड़ यानी 22.2 प्रतिशत से कम वोट मिले.

बीजेपी आगे लेकिन कांग्रेस ज्यादा पीछे नहीं

इन आंकड़ों को समझे तो ये बात साफ हो जाती है कि करीब 3.3 करोड़ से ज्यादा मतदाताओं ने 2014 के बाद बीजेपी को वरीयता दी है. हालांकि बीजेपी को 27 राज्यों के चुनावों में 90 लाख से ज्‍यादा वोटों का नुकसान भी हुआ है. यहां आपको एक बाद समझनी होगी कि इन चुनावों में कांग्रेस को 2 करोड़ वोटों का फायदा हुआ है. तो पलड़ा भले ही बीजेपी का भारी हो लेकिन कांग्रेस के लिए उम्मीद मरी नहीं है. और लोकसभा चुनाव में अगर कांग्रेस मेहनत करती है, मौकों को भुनाती है तो पासा पलट सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.