‘प्रधानमंत्री जन-धन योजना’ का बढ़ रहा क्रेज, खातों में जमा रकम 90 हजार करोड़ पहुंची

पीएम मोदी ने सभी को बैंक से जोड़ने के लिए जन-धन योजना की शुरुआत की थी. कोशिश ये थी कि इसके जरिए लोगों को बैंकिग सिस्टम में लाया जाएगा और सरकार गरीबों तक सीधी मदद पहुंचा पाएगी. शुरू में विपक्ष ने इस योजना की आलोचना की थी. अब जो ताजा आंकड़े आए हैं उससे लगता है कि लोगों में इस योजना का क्रेज बढ़ रहा है.

प्रधानमंत्री जन-धन खातों में कुल जमा रकम जल्द ही 90 हजार करोड़ रूपये के पार जा सकती है. लोगों में इस योजना का क्रेज बढ़ रहा है. शुरू में लोगों में इस योजना को लेकर उत्साह कम हुआ था इसके बाद बीमा योजना के तहत दुर्घटना बीमा कवर को दोगुना करके 2 लाख रुपये कर दिया गया और उसका फायदा ये हुआ कि लोग इस योजना का फायदा उठा रहे हैं. वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक,

मार्च 2017 से जन धन खातों के जमा में तेजी आई है. 30 जनवरी 2019 तक कुल जमा बढ़कर 89,257.57 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत 34.14 करोड़ खाते खोले गए हैं. इन खातों में औसत जमा बढ़कर 2,615 रुपये हो गया, जो कि 25 मार्च 2015 को 1,065 रुपये पर था.

पीएम मोदी ने 28 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री जन धन योजना शुरु की थी. 28 अगस्त 2018 के बाद खोले गए नए खातों के लिए दुर्घटना बीमा कवर को एक लाख रुपये से बढ़ाकर दो लाख रुपये कर दिया था. इसके अलावा ओवरड्राफ्ट की सीमा को दोगुना करके 10,000 रुपये कर दिया गया है.

आंकड़ों के मुताबिक, 27.26 करोड़ खाताधारकों को दुर्घटना बीमा कवर के साथ रुपे डेबिट कार्ड जारी किए गए हैं. इस बदलाव के कारण अब लग रहा है कि पीएम मोदी की ये योजना कामयाब हो रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.