कैसे कांग्रेस का कायापलट करेंगी प्रियंका गांधी ?

लखनऊ में वीरान नजर आने वाले कांग्रेस के मॉल अवेन्यू इलाके में बने कार्यालय में रौनक लौट गई है. प्रियंका गांधी महासचिव बनने के बाद पहली बार यूपी आ रही हैं. और कांग्रेसियों को उम्मीद है कि कांग्रेस उन 96 घंटों में अपनी रमक में लौट आएगी जिन घंटों में प्रिंयका यूपी में रहेंगी.

ये पहली बार हो रहा है जब गांधी परिवार का कोई सदस्य 4 दिन लगातार प्रदेश कार्यालय में बैठक करेगा. 11 फरवरी को ये 96 घंटे शुरु होंगे और 14 फरवरी को जब ये घंटे पूरे होंगे तो कांग्रेस में परिवर्तन आएगा ये देखना दिलचस्प है.

  • पश्चिम यूपी प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया पश्चिम यूपी के नेताओं के साथ बैठक करेंगे
  • प्रियंका गांधी पूर्वी यूपी की प्रभारी हैं तो वो पूर्वी यूपी के नेताओं के साथ बैठक करेंगी
  • तीन दिन तक लगातार 13 से 14 घंटे तक कांग्रेस कार्यालय में बैठकों का दौर चलेगा

प्रियंका गांधी और सिंधिया ने यूपी की 40-40 सीटें बांट ली हैं इन बैठकों में हर सीट पर अलग से बैठक होगी. प्रियंका 12 फरवरी को सुबह 11 बजे से बैठकें शुरु करेंगी.

  • पहले मोहनलालगंज लोकसभा सीट के नेताओं साथ बैठक होगी
  • 12 बजे से उन्नाव लोकसभा सीट के नेताओं संग बैठक होगी.

इसी तरह प्रदेश की सभी 80 सीटों पर एक एक करके प्रियंका गांधी और सिंधिया बैठक करेंगे. हर लोकसभा सीट की बैठक में जिलाध्यक्ष, नगर अध्यक्ष, मौजूदा/पूर्व विधायक, पूर्व सांसद और कुछ संभावित उम्मीदवार के अलावा जिला संगठन के अहम नेताओं को बुलाया गया है. खबर ये भी है कि हर सीट से करीब 15-20 लोगों को बुलाया गया है जो बैठक में शामिल होंगे.

बैठक में किन मुद्दों पर बात होगी

प्रियंका सूबे के जातीय समीकरण पर जोर दे रही हैं लिहाजा बैठक में सीट के जातीय समीकरण और संभावित उम्मीदवारों को लेकर ज्यादा चर्चा हो सकती है. हर सीट पर मुद्दों पर भी चर्चा होगी. कांग्रेस की रणनीति ये है कि वो स्थनीय मुद्दों पर ज्यादा जोर दे. ये भी खबर है कि 11 फरवरी से यूपी के हर फैसले को प्रियंका गांधी की नई टीम लेगी. अभी ये तो तय नहीं है कि इस टीम में कौन कौन है लेकिन कहा जा रहा है कि दिल्ली से प्रियंका के साथ एक दर्जन लोगों की नई टीम आ रही है.

कैसे काम करेगी प्रियंका की टीम?

प्रियंका गांधी की कोर टीम को पूरा फोकस सीटों के गणित पर होगा और काग्रेंस के फ्रंटल संगठनों के साथ को-आर्डिनेशन और कम्यूनिकेशन इसके अलावा सोशल मीडिया हैंडलिंग पर पूरा जोर दिया जाएगा. यूपी में कांग्रेस को मजबूत करने के लिए जो टीम बनाई गई है उसमें राजस्थान में 1994 बैच के आरएएस अफसर धीरज श्रीवास्तव की अहम भूमिका होगी उन्होंने वीआरएस ले लिया. धीरज यूपी में प्रियंका के निजी सचिव के तौर पर काम करेंगे. यूपी में प्रियंका वरिष्ठ कांग्रेसी नेता राजीव शुक्ला को भी अहम जिम्मेदारी दे रही हैं. कैंपेनिंग कमेटी, कम्यूनिकेशन और प्रचार विभाग पर ज्यादा काम किया जा रहा है.

प्रियंका रोड-शो पॉलिटिक्स को बढ़ाएंगी

कहा जा रहा है कि प्रियंका गांधी यूपी में एक के बाद एक कई रोड-शो करनें और इसकी शुरुआत 11 फरवरी से ही हो जाएगी. 11 फरवरी को राहुल, प्रियंका और सिंधिया लखनऊ एयरपोर्ट से कांग्रेस दफ्तर तक रोड शो करेंगे. और ऐसी तैयारी की गई है कि करीब 50 जगहों पर इन नेताओं को स्वागत किया जाएगा. आलमबाग, चारबाग, हुसैनगंज, बर्लिंगटन, ओडियन सिनेमा, लालबाग, हजरतगंज से रोड-शो गुजरेगा और बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर, महात्मा गांधी और सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण का कार्यक्रम होगा.

प्रियंका गांधी कांग्रेस कई पदाधिकारियों को बदल सकती हैं और आने वाले वक्त में वो यूपी में नई कार्यशैली विकसित कने के लिए काम करेंगे. ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि 96 घंटों में कांग्रेस बड़े परिवर्तन से गुजरेगी और कांग्रेस आलाकमान के साफ निर्देश हैं कि वो यूपी से नतीजे चाहते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.