पाकिस्तान का कौन सा हथियार कश्मीरी युवाओं को आतंकवादी बना रहा है?

पिछले कुछ सालों में कश्मीर में आतंकवादी घटनाएं बढ़ी है. बुरहान वानी की एनकाउंटर के बाद से घाटी में युवाओं का रुख आतंकवाद की ओर बढ़ा है. कश्मीर में आतंक को बढ़ावा देने में पाकिस्तान का हाथ है. लेकिन अब खबर ये आ रही है कि पाकिस्तान सोशल मीडिया के जरिए भारत में आतंक को खाद-पानी दे रहा है.

भारतीय सेना के उत्तरी कमान के कमांडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट रणबीर सिंह ने कहा है कि कश्मीर में आतंकी गतिविधिया में तो पाकिस्तान का हाथ है ही. पाकिस्तान कश्मीरी युवाओं को सोशल मीडिया के जरिए बरगला रहा है. पाकिस्तानी सेना डिजिटल माध्यमों के जरिए इस काम को अंजाम दे रही है.

सोशल मीडिया पाकिस्तान नया हथियार है और इसके जरिए उसने जम्मू-कश्मीर के युवाओं में गहरी पैठ बनाई है. पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर और पाकिस्तान में आतंकवाद के बुनियादी ढांचे अब भी बने हुए हैं. पीटीआई के खबर के मुताबिक उत्तरी कमान के प्रमुख ने कहा कि,

 ‘यह हमारे लिए चिंता का विषय है. हम इस पर ध्यान दे रहे हैं. कट्टरपंथ फैलाया जाना न केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में चिंता का एक विषय है.’

पाकिस्तानी सेना अब पाकिस्तान से भारत में आतंकवादी भेजने की रणनीति को बदलकर भारत में ही आतंकवादी तैयार करने की योजना पर काम कर रहा है. इस काम में सोशल मीडिया ने पाकिस्तान की काफी मदद की है. पाकिस्तान कश्मीर में शांति और स्थायित्व को बिगाड़ने के मकसद से जनमत बदलने के लिए चर्चा और विमर्श विकसित करने की कोशिश कर रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.