राफेल मामले में पर्रिकर ने राहुल गांधी को क्या बताया?

राफेल का जिन्न बोतल में बंद होने का नाम नहीं ले रहा है. हाल ही में पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर से मिले राहुल गांधी ने एक नया खुलासा किया है. राहुल गांधी ने कहा है कि पर्रिकर से मुलाकात में पांच मिनट राफेल सौदे पर भी बातचीत हुई हैं.

कोच्चि में राहुल गांधी ने एक बार फिर से राफेल राग छेड़ते हुए कहा कि पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने स्पष्ट कहा है कि ‘नए सौदे’ से उनका कोई लेना-देना नहीं है. कोच्चि में बूथ स्तरीय पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक राहुल गांधी ने ये बात कही. उन्होंने कहा,

 ‘दोस्तों, पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा है कि नए सौदे से उनका कोई लेना-देना नहीं है, जिसे नरेंद्र मोदी ने अनिल अंबानी के फायदे के लिए किया.मैं कल पर्रिकर जी से मिला था. पर्रिकर जी ने स्वयं कहा था कि डील बदलते समय पीएम ने हिंदुस्तान के डिफेंस मिनिस्टर से नहीं पूछा था.’

राहुल गांधी अभी हाल ही में पणजी में राज्य सचिवालय परिसर में पर्रिकर से मिले थे. राहुल गांधी के इस बयान के बाद पर्रिकर ने भी एक चिट्ठी जारी करके कहा है कि उन्हें इस बात से काफी निराशा हुई है, उन्होंने कहा,

मुझे इस बात पर निराशा हुई कि आपने (राहुल गांधी) इस मुलाकात का इस्तेमाल राजनीतिक लाभ के लिए किया. आपने पांच मिनट मेरे साथ गुज़ारे. इस दौरान आपने रफाल को लेकर कोई बातचीत की और न ही मैंने इस संबंध में कुछ कहा.’

राफेल के मामले में राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार को घेर रहे हैं. दो जनवरी को राफेल डील को लेकर कांग्रेस ने एक टेप जारी किया था. ये वो टेप था जिसमें कथित तौर पर कांग्रेस ने बीजेपी नेता और गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत पी. राणे के साथ किसी अज्ञात व्यक्ति के साथ हुई बातचीत को जारी किया था.

वीडियो में राणे ये बताते हुए नजर आ रहे हैं कि राफेल की फाइल पर्रिकर के बेडरूम में है. इस टेप के आधार पर कांग्रेस ने दावा किया था कि मनोहर पर्रिकर ने कैबिनेट बैठक में कहा था कि रफाल डील के कागजात उनके बेडरूम में हैं, उनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता. इसी आधार पर राहुल गांधी ने केरल में एक बार फिर से मोदी सरकार को घेरा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.