Pok में तिरंगा लहराने की तैयारी कर रही मोदी सरकार ?

कश्मीर में तेजी से घटनाक्रम बदल रहा है. हलचल बढ़ रही है और लोग अपने जरूरी सामान का स्टॉक कर रहे हैं. कश्मीर पर जारी हलचल के बीच जम्मू-कश्मीर में सोमवार आधी रात से सुरक्षा सख़्त कर दी गई है. श्रीनगर में धारा 144 लागू कर दी गई है जबकि जम्मू में कर्फ़्यू लागू कर दिया गया है.

क्या कश्मीर मसले पर सरकार निर्णायक भूमिका में आ गई है. क्या चुनाव से पहले मोदी सरकार कुछ बडा करना चाहती है. क्या जम्मू कश्मीर से धारा 35A खत्म कर दी जाएगी. ऐसे कई सवाल इस वक्त सिर उठाए खड़े हुए हैं. श्रीनगर में आधी रात से नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला, पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ़्ती और जम्मू कश्मीर पीपल्स कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष सज्जाद लोन को उनके घरों में नज़रबंद किया गया है. श्रीनगर में धारा 144 लगाकर किसी भी तरह की आवाजाही को रोक दिया गया है और सभी शैक्षणिक संस्थान बंद करवा दिए गए हैं. कई शैक्षणिक संस्थानों के छात्रों को होस्टल ख़ाली कराए गए हैं.

मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं भी बंद

अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती तो पहले ही कर दी गई थी. अब श्रीनगर समेत पूरी कश्मीर घाटी में मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं. हालात ये हैं कि श्रीनगर से लैंडलाइन से भी संपर्क नहीं हो पा रहा है. प्रशासनिक तबके को संवाद के लिए सैटेलाइट फोन उपलब्ध कराए जा रहे हैं. सभी इस बात को लेकर चिंतित हैं कि कहीं जम्मू कश्मीर के हालात और खराब ना हो जाएं.

सरहद के दोनों तरफ बैंठकों का दौर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार तड़के 9:30 बजे अपने निवास पर केंद्रीय कैबिनेट की बैठक की है. उधर पाकिस्तान में भी इस्लामाबाद में आज दोपहर दो बजे कश्मीर मामलों की संसदीय समिति की बैठक बुलाई गई. आपको बता दें कि हालात को देखते हुए शुक्रवार को शुरू हुई जब जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अमरनाथ यात्रा 14 दिन पहले ही रद्द कर दी और यात्रियों और पर्यटकों को जल्द-से-जल्द घाटी को ख़ाली करने के लिए कह दिया गया. सबके जेहन में एक ही बात है कि आखिर भारत सरकार क्या करने जा रही है.

ये भी पढ़ें:

अभी किसी भी प्रशासनिक अफसर ने कोई भी स्पष्ट जानकारी नहीं दी है. केंद्र सरकार की ओर से भी कुछ भी नहीं कहा गया है. एक पक्ष ये भी कह रहा है कि मोदी सरकार भारतीय संविधान में कश्मीर को मिले विशेष दर्जे को खत्म कर सकती है. कश्मीर को लेकर भारत के रुख को देखते हुए हलचल पाकिस्तान में भी है. भारत प्रशासित कश्मीर में जारी हलचल के बीच पाकिस्तान में भी सरकार और सेना की रविवार को बैठक हुई. रविवार को पाकिस्तान की नेशनल सिक्यॉरिटी कमिटी (एनएससी) की बैठक हुई.

इस बैठक के बाद पाकिस्तान ने कहा है कि भारतीय सेना के किसी भी दुःसाहस का जवाब पाकिस्तान देने के लिए तैयार है. यह बात पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी प्रेस रिलीज़ में कही गई है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के द्वारा बुलाई गई बैठक में पाकिस्तान के रक्षा मंत्री परवेज़ खट्टक, विदेश मंत्री शाह मोहम्मद क़ुरैशी, सेना प्रमुख क़मर जावेद बाजवा के अलावा सेना के अन्य आला अधिकारी शामिल हुए. कश्मीर में बढ़ी गतिविधियों को देखते हुए पाकिस्तान को ये डर भी सता रहा है कि कहीं भारत Pok न छीन ले.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.