राहुल गांधी हारने के बाद अमेठी पहुंचे तो क्या हुआ ?

कांग्रेस नेता राहुल गांधी लोकसभा चुनाव में अमेठी में हुई हार के बाद पहली बार वहां पहुंचे. 10 जुलाई को हल्की बारिश के बीच वो अमेठी पहुंचे तो वहां तमाम कांग्रेसी कार्यकर्ता उनसे मुलाकात करने के लिए बेचैन हो रहे थे.

अमेठी में हारने के बाद राहुल गांधी का ये पहला अमेठी दौरा था. खबरों के मुताबिक अपने इस एक दिवसीय दौरे में राहुल गांधी स्थानीय लोगों के अलावा पार्टी कार्यकर्ताओं से भी राहुल ने मुलाकात की. इस दौरे में उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठ कर इस बात भी समीक्षा करेंगे कि आखिर गांधी परिवार की परंपरागत सीट पर उनकी हार कैसे हो गई. हालांकि जहां राहुल गांधी समीक्षा कर रहे थे वहीं थोड़ी दूर पर उनके विरोध में नारेबाजी भी हो रही थी.

लोकसभा के पिछले चुनाव में राहुल ने अमेठी के अलावा केरल की वायनाड सीट से किस्मत आजमाई थी. वायनाड से जहां वह सांसद चुने गए थे तो वहीं अमेठी में उन्हें बीजेपी नेता स्मृति ईरानी ने 55 हजार वोटों के अंतर से हरा दिया. चुंकि इस चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है इसलिए राहुल गांधी का दौरा महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

लोकसभा के इस चुनाव में कुल 543 संसदीय सीटों में से कांग्रेस सिर्फ 52 सीटें ही जीत पाई. चुनाव में मिली कारारी शिकस्त के मद्देनजर राहुल गांधी ने मई के महीने में पार्टी की एक बैठक के दौरान अध्यक्ष पद छाड़ने की पेशकश की थी. इसके बाद बीते हफ्ते एक ट्वीट के जरिये उन्होंने औपचारिक तौर पर यह पद छोड़ने का ऐलान भी किया था.

राहुल का अमेठी दौरा कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर नहीं बल्कि कांग्रेस नेता और अमेठी के पूर्व सांसद के तौर पर हो रहा है. राहुल के इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस वर्किंग कमेटी नए अध्यक्ष चुनाव की प्रक्रिया में लगी हुई.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.