‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ पहली ही बारिश में रिसने लगा

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी पहली ही बारिश में रिसने लगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबसे पसंदीदा प्रोजेक्ट की पहली ही बारिश में पोल खुल गई…गुजरात के नर्मदा जिले में बनाई गई सरदार पटेल की 182 मीटर ऊंचे स्टेच्यू ऑफ यूनिटी से पानी रिसने लगा है.

प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले साल दुनिया की सबसे ऊंची इस प्रतिमा का अनावरण किया था लेकिन बारिश का पानी इसमें रिसने लगा है. गुजरात के केवड़िया में बनी दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा की ऐसी हालत कैसे हो गई इसको लेकर सवाल खड़े हो गए हैं. आपको बता दें कि सरदार वल्लभभाई पटेल की यह प्रतिमा 182 मीटर ऊंची है इसे इसे बनाने में सरकार ने 3 हजार करोड़ की भारी भरकम रकम खर्च की है.

बारिश के पानी का रिसाव पटेल साहब की प्रतिमा के दिल के पास हो रहा है. स्टेच्यू ऑफ यूनिटी की मेंटेंस का जिम्मा लार्सन एंड टुब्रो के पास है. लेकिन उससे चूक कहां हो गई ये पता लगाने की कोशिश हो रही है. प्रतिमा के 153 मीटर की ऊंचाई पर व्यूइंग गैलरी है. इस गैलरी की खास बात ये है कि यहां से करीब 2 सौ लोग आसपास के खूबसूरत नजारों का दीदार सकते हैं. नर्मदा जिले के डीएम ने कहा है कि व्यूइंग गैलरी का डिजाइन की वजह से बारिश का पानी इसमें आ गया है.

हालांकि उन्होंने कहा है कि ये कोई तकनीकी खामी नहीं है. इससे पहले भी यहां कई सम्याएं हो चुकी हैं. 31 अक्टूबर, 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका अनावरण किया था उसके बाद 13 नवंबर को बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी इसे देखने गए थे लेकिन बिजली चले जाने की वजह से वो इसमें फंस गए थे. अब बारिश का पानी रिसने से फिर लोग चिंतित हो गए हैं.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.