महाराष्ट्र : कांग्रेस को लगा जोरदार झटका, पूर्व नेता प्रतिपक्ष राधाकृष्ण विखे पाटिल ने कांग्रेस छोड़ी

राधाकृष्ण विखे पाटिल ने कांग्रेस को छोड़ी

महाराष्ट्र में इस साल के आखिर में चुनाव होने हैं और ऐसे में कांग्रेस को राधाकृष्ण विखे पाटिल ने जोरदार झटका दिया है. कहा जा रहा है कि विखे भाजपा में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है. लोकसभा चुनमाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल का कांग्रेस छोड़ना पार्टी के लिए अच्छा नहीं है.

विखे ने महाराष्ट्र विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है और पार्टी भी छोड़ दी है. उन्होंने मंगलवार को विधानसभा अध्यक्ष हरिभाऊ बागड़े से मुलाकात करके अपना इस्तीफा सौंपा. आपको बता दें कि विखे ने महाराष्ट्र में कांग्रेस के लिए काफी काम किया था लेकिन जब उन्होंने पार्टी छोड़ी तो कहा कि,

मैंने लोकसभा के चुनाव में भी पार्टी के लिए कोई प्रचार नहीं किया. मुझे पार्टी हाईकमान को लेकर कोई संदेह नहीं है. पार्टी हाईकमान की तरफ से ही मुझे महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बनने का मौका मिला. मैंने अच्छा काम करने की कोशिश की लेकिन हालात से मजबूर होकर मुझे इस्तीफा देना पड़ रहा है.’

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले विखे ने महाराष्ट्र विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष के पद से भी अपना इस्तीफा दे दिया था. उस वक्त उन्होंने कहा था कि वो व्यक्तिगत कारणों से इस्तीफा दे रहे हैं. लोकसभा के पिछले चुनाव में वे महाराष्ट्र की अहमदनगर संसदीय सीट से अपने बेटे सुजय विखे पाटिल को चुनाव लड़वाना चाहते थे. लेकिन राज्य में कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के बीच गठबंधन की वजह से उन्हें अपने बेटे के लिए वह सीट नहीं मिल पाई थी.

हालांकि बाद में सुजय विखे पाटिल बीजेपी में चले गए और अहमदनगर से विधायक बन गए. तभी से ये कहा जा रहा था कि राधाकृष्ण विखे पाटिल बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. विखे ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस के साथ मुलाकात भी की है. लिहाजा ये कहा जा रहा है कि वो बीजेपी का दामन थाम सकते हैं. विखे ने ये भी कहा है कि कांग्रेस के आठ-दस अन्य विधायक भी उनके साथ बीजेपी में शामिल हो सकते हैं.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.