मोदी के मंत्री ने हैदराबाद को बताया आतंकियों का सुरक्षित ठिकाना

KISHAN-REDDY

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नए मंत्रिमंडल ने काम करना शुरु कर दिया है. देश के नए गृह मंत्री अमित शाह ने पदभार संभाला और अपने जूनियन मंत्री को नसीहत भी दी. दरअसल गृह राज्य मंत्री ने कहा था कि देश में कहीं भी आतंकी घटनाएं होती है तो उसका तार हैदराबाद से जुड़ जाता है. हैदराबाद आतंकियों के लिए सुरक्षित स्थान है.

लगातारा दूसरी बार पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने के बाद मोदी ने काम शुरु कर दिया है. लेकिन काम के साथ बयान भी आने शुरु हो गए हैं. टीम मोदी में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित का नंबर दो की हैसियत मिली है और उन्हें देश का गृहमंत्री बनाया गया है. अमित शाह के जूनियर हैं जी. कृष्ण रेड्डी. जिन्हें गृह राज्य मंत्री बनाया गया है. जी. के रेड्डी ने कुर्सी संभालते ही विवादित बयान दे दिया. एएनआई के अनुसार, रेड्डी ने कहा,

देश में कई ऐसे स्थान हैं, जहां आतंकी गतिविधियां चरम पर है। यदि बेंगलुरु, भोपाल में कोई घटना होती है तो जांच में पता चलता है कि उसका जड़ हैदराबाद है। राज्य पुलिस और एनआईए प्रत्येक 2-3 महीने में हैदराबाद से आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। मैंने कुछ गलत नहीं कहा। भारत कोई धर्मशाला नहीं है कि जिसे चाहे, उसे रहने दें। भारतीयों और घुसपैठियों का पता लगाने के लिए जनगणना कराएंगे। देश में कहीं भी आतंकी घटनाएं होती है तो उसका तार हैदराबाद से जुड़ जाता है। हैदराबाद आतंकियों के लिए सुरक्षित स्थान है।”

गृह राज्य मंत्री के इस बयान के बाद सियासी प्रतिक्रियाएं भी शुरु हो गईं. उनके इस बयान पर पलटवार करते हुए एआईएमआईएम के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा,

 “गृह राज्य मंत्री का यह बयान हैदाराबद, तेलंगाना के प्रति उनकी दुश्मनी को दिखाता है। एक मंत्री के लिए इस तरह का गैरजिम्मेदाराना बयान शोभा नहीं देता है, लेकिन हम उनसे ऐसी ही उम्मीद करते हैं। जहां भी वे मुस्लिम देखते हैं, उसे आतंकी के तौर पर लेते हैं। हम उन्हें ठीक नहीं कर सकते हैं।”

टीम मोदी काम शुरु कर चुकी है और इस तरह की समस्याओं से अभी मोदी की इस नई टीम को जूझना होगा. हालांकि गृह राज्य मंत्री के बयान के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने अपने जूनियर की क्लास लगाई है और कहा है कि इस तरह के बयान देने से बचें.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.