‘गुनाह की पराकाष्ठा’ है प्रज्ञा ठाकुर की गिरफ्तारी, टॉर्चर की वजह से हुआ कैंसर

baba-ramdev-

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बाद योगगुरु बाबा रामदेव भी भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर के बचाव में आ गए हैं. रामदेव ने कहा कि जेल में कथित टॉर्चर की वजह से ही साध्वी प्रज्ञा को कैंसर हो गया था.

सबसे पहले तो आपको ये जान लेना चाहिए कि भोपाल से बीजेपी की उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर 2008 मालेगांव ब्लास्ट मामले में अभी जमानत पर बाहर हैं. लिहाजा उनका बचाव में बिगुल फूंकने से अदालती कार्रवाई भी प्रभावित हो सकती है. इस बार से अंजान होकर बीजेपी नेता ही नहीं अब पब्लिक फिगर योगगुरु रामदेव भी प्रज्ञा के बचाव में उतर आए हैं. रामदेव ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के ‘राष्ट्रवादी’ बताया. रामदेव ने कहा कि जेल में नौ साल तक कथित टॉर्चर के कारण ही साध्वी को कैंसर हुआ.

रामदेव ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा को महज शंका के आधार पर गिरफ्तार किया गया था. उन्होंने कहा कि प्रज्ञा को जेल में इस तरह से टॉर्चर किया गया जैसे ‘मानो वह आतंकवादी हो’. ये बात रामदेव ने पत्रकारों से बात करते हुए कहीं. उन्होंने कहा,

यह गुनाह की पराकाष्ठा थी. आप किसी भी व्यक्ति को महज शक के आधार पर गिरफ्तार कर लेते हैं और उसे 9 साल तक शारीरिक और मानसिक यातना देते हैं. इस यातना के कारण वह शारीरिक रूप से कमजोर हो गई और उसे कैंसर हो गया. वह आतंकवादी नहीं बल्कि एक राष्ट्रवादी महिला है।

रामदेव पटना में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के नामांकन में शामिल होने के लिए पहुंचे हुए थे. आपको बता दें कि रामदेव ने उन्हीं प्रज्ञा ठाकुर के बारे में बयान दिया है जिन्होंने 26/11 आतंकी हमले में मारे गए एटीएस चीफ हेमंत करकरे का अपमान किया था. रामदेव से पहले बीजेपी अध्यक्ष भी कह चुके हैं कि प्रज्ञा को गलत तरीके से फंसाया गया है.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.