बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भी नहीं बदले हालात, पाकिस्तान ने 513 बार किया सीजफायर उल्लंघन

TWITTER

बालाकोट एयरस्ट्राइक बाद पाकिस्तान बिल्कुल नहीं सुधरा है. 26 फरवरी के बाद पाक की ओर से हुई फायरिंग में चार सुरक्षाकर्मी शहीद हुए हैं, जबकि 6 नागरिक मारे गए हैं. हैरानी की बात ये है कि बालाकोट में भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान की सेना ने जम्मू-कश्मीर से लगी सीमा पर 513 बार सीजफायर उल्लंघन किया है.

सेना के शीर्ष अधिकारी ने बताया है कि पाकिस्तान बिल्कुल नहीं सुधरा है. एलओसी पर लगातार सीज़फायर का उल्लंघन हो रहा है. लेकिन भारतीय सेना भी पीछे नहीं है. भारतीय सेना ने भी पाक के सीजफायर वॉयलेशन का मुंहतोड़ जवाब दिया. सेना के मुताबिक पाकिस्तान की सेना को भारतीय सेना के मुकाबले 5 से 6 गुना ज्यादा नुकसान हुआ.

गोलीबारी जारी, हो रही बमबारी

14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर फिदायीन हमला हुआ था. इस हमले में करीब 40 जवानों की शहादत हुई थी. इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी. हमले का बदला लेने के लिए भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में स्थित जैश के ठिकानों को तबाह कर दिया था. इस एयरस्ट्राइक के बाद ये माना जा रहा था कि पाकिस्तान सुधर जाएगा लेकिन ऐसा हुआ नहीं. व्हाइट नाइट कोर के जनरल कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह ने बताया है,

पाक ने करीब 100 से ज्यादा बार रहवासी इलाकों को टारगेट करते हुए मोर्टार, तोपों और बड़े हथियारों का इस्तेमाल किया, लेकिन भारतीय सेना लगातार उचित जवाब दे रही हैं. इस साल के आंकड़े के अनुसार पाकिस्तानी सेना द्वारा जनवरी से 26 फरवरी तक तीन बार स्नाइपरों का इस्तेमाल किया गया. हमारे सैनिकों का मनोबल काफी ऊंचा है

बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने 513 बार सीज़फायर का उल्लंघन किया है. लेकिन भारतीय सेना ने हर बार मुंहतोड़ जवाब दिया. व्हाइट नाइट कोर के जनरल कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह से जब चुनाव में सेना के इस्तेमाल पर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में सैनिकों पर हो रही राजनीति ठीक नहीं है और भारतीय सेना विवादों में नहीं पढ़ना चाहती.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.