क्या मोदी को वाराणसी में शिकस्त दे सकती हैं प्रियंका गांधी ?

priyanka-gandhi contest-against-pm-modi-from-varanasi

कांग्रेस महासचिव और पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाराणसी से चुनाव लड़ सकती हैं. खबर है कि प्रियंका गांधी के 2019 में लोकसभा चुनाव लड़ने की संभावनों पर विचार चल रहा है. इस चर्चाओं को इस लिए बल मिला क्योंकि कांग्रेस ने एकबार फिर पीएम नरेंद्र मोदी की संसदीय सीट वाराणसी से अपने उम्मीदवार के नाम की घोषणा नहीं की है.

यूपी के लिए जारी की गई कांग्रेस की नई सूची में वाराणसी का नाम नहीं है. कांग्रेस ने अभी तक वाराणसी से कोई उम्मीदवार नहीं उतारा है. दूसरी तरफ कांग्रेस नेतृत्व प्रियंका गांधी की उम्मीदवारी की अटकलों पर भी चुप्पी साधे हुए हैं. प्रियंका के वाराणसी से चुनाव लड़ने को लेकर जब कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला से सवाल किया तो उन्होंने कहा,

अगर इस संबंध में कोई फैसला लिया जाता है और तो इसके बारे में तय किए जाने के बाद जानकारी दी जाएगी।’

दिलचस्प हो सकता है मुकाबला

सूत्रों के हवाले से ये भी खबर है कि इलाहाबाद और वाराणसी में आंतरिक सर्वे में जो आंकड़े आए हैं उससे कांग्रेस उत्साहित है. इस सर्वे में प्रियंका की दावेदारी काफी मजबूत लग रही है. दिलचस्प ये है कि कांग्रेस पार्टी ने इन दोनों ही सीटों से किसी उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है.

वाराणसी से 2004 में विजयी रहे राजेश मिश्रा को पड़ोसी सलेमपुर से टिकट दिया गया 2014 में अजय राय को टिकट दिया गया था।

2019 के लोकसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी को औपचारिक तौर पर कांग्रेस में शामिल किया गया. कांग्रेस प्रियंका को लेकर बेहद सधे हुए कदमों से आगे बढ़ रही है. कांग्रेस के अंदरखाने ये चर्चा चल रही है कि पीएम मोदी के खिलाफ प्रियंका मजबूत उम्मीदवार हो सकती हैं और इससे बीजेपी को वाराणसी में अपनी मशीनरी खपानी होगी.

किसी ने नहीं किया उम्मीदवार का एलान

वाराणसी में प्रियंका की दावेदारी को इसलिए भी बल मिल रहा है क्योंकि अभी यहां किसी ने भी उम्मीदवार तय नहीं किया है. वैसे महागठबंधन में वाराणसी सपा के खाते में गई है लेकिन ऐसी भी खबरें हैं कि अगर प्रियंका यहां से चुनाव लड़ती हैं तो सपा ये सीट छोड़ सकती है.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.