अगर ऐसा है तो क्या योगी आदित्याथ ‘देशद्रोही’ हैं ?

Yogi_Adityanath

बीजेपी सांसद और विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने कहा है कि अगर वो मोदी जी की सेना कहता है तो वो देशद्रोही है. सेना पॉलिटिकल पार्टी की नहीं होती

भारतीय से का शौर्य इस वक्त सियासी मंचों पर खूब सराह जा रहा है. खासकर सत्ताधारी दल बीजीपे के नेता तो ऐसे सेना का नाम ले रहे हैं जैसे इनसे पहले सेना ने कुछ किया ही नहीं. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक चुनावी भाषण के दौरान ‘मोदी जी की सेना’ कहकर बालाकोट एयरस्ट्राइक पर मोदी सरकार की पीठ थपथपाई थी. अब बीजेपी के गाजियाबाद से सांसद और विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने कहा है कि अगर अगर कोई कहता है कि भारत की सेना मोदी जी की सेना है तो वो ग़लत ही नहीं, देशद्रोही भी है

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक अप्रैल को ग़ाज़ियाबाद में केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह के चुनाव प्रचार में ही भारतीय सेना को ‘मोदी जी की सेना’ कहा था, उन्होंने कहा था,

कांग्रेस के लोग आतंकवादियों को बिरयानी खिलाते हैं और मोदी जी की सेना आतंकवादियों को गोली और गोला देती है.

योगी के इस बयान को लेकर विपक्षी पार्टियों ने तो आपत्ति जताई ही, कई पूर्व सैन्य अधिकारियों ने भी आपत्ति जताते हुए कहा है कि सेना देश की होती है, किसी नेता की नहीं होती है. बीबीसी हिंदी को दिए अपने इंटरव्यू में जनरल वीके सिंह ने कहा है कि

बीजेपी के प्रचार में सब लोग अपने आप को सेना भी बोलते हैं. लेकिन हम किस सेना की बात कर रहे हैं? क्या हम भारत की सेना की बात कर रहे हैं या पॉलिटकल वर्कर्स की बात कर रहे हैं? मुझे नहीं पता कि क्या संदर्भ है. अगर कोई कहता है कि भारत की सेना मोदी जी की सेना है तो वो ग़लत ही नहीं, वो देशद्रोही भी है. भारत की सेनाएं भारत की हैं, ये पॉलिटिकल पार्टी की नहीं हैं.

जनरल वीके सिंह का बयान इसलिए महत्वपूर्ण हो जाता है कि बीजेपी के तामाम नेता सेनाओं के शौर्य का बखान सार्वजनिक मंचों पर ऐसे कर रहे हैं जैसे सेना देश के लिए नहीं बल्कि पार्टि विशेष के लिए काम कर रही हो. पीएम मोदी भी लगातार सेना के शौर्य को चुनावी भाषाणों में इस्तेमाल कर रहे हैं. बीजेपी ने इस बार जनरल वीके सिंह को एक बार फिर गाजियाबाद से लोकसभा का टिकट दिया है.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.