Akhilesh_Yadav

23 मई को सत्ता किसके हाथ आएगी ये इस बात से तय होगा कि मतदाताओं के बीच कौन कितनी मजबूत से अपनी मौजूदगी दर्ज कराता है. यही कारण है कि सपा मुखिया अखिलेश यादव ने चुनाव की तारीखों के एलान के बाद सत्ताधारी दल पर अपने प्रहार और तीखे कर दिए हैं.

चुनाव का एलान होने के बाद सपा मुखिया के ट्वीट और ज्यादा तीखे हो गए हैं. वो शायराना लहजे में बीजेपी को जिस तरह से घेर रहे हैं उससे एक बात तो साफ है कि वो हर मोर्चे पर बीजेपी से मुकाबला करने के लिए तैयार हैं. मायावती से गठबंधन करके उन्होंने जो समीकरण यूपी में बनाया है वो बीजेपी के लिए सबसे बड़ी चुनौती है और अखिलेश उस चुनौती को और मजबूत करने से लिए मुद्दों पर चोट कर रहे हैं. अब अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिए बिना तंज कसते हुए कहा कि जुमलों और झूठ से भ्रष्ट करतूतें नहीं छिपेंगी. अखिलेश यादव ने ट्वीट में कहा,

भयंकर जुमला पार्टी के नेताओं ने व्यक्तिगत टिप्पणियां करनी शुरू कर दी हैं। सब जानते हैं कि राजनीति में व्यक्तिगत बातें वही करते हैं जो घबराए हुए होते हैं। भयंकर जुमला पार्टी के ढाई लोगों ने व्यक्तिगत टिप्पणियाँ देनी शुरू कर दी है। सब जानते हैं कि राजनीति में व्यक्तिगत बातें वही करते हैं जो घबराए हुए होते हैं- जुमलों से झूठ, बूट, लूट और भ्रष्ट करतूत नहीं छिपेंगे।

जुमलों से झूठ, बूट, लूट और भ्रष्ट करतूत नहीं छिपेंगे। गठबंधन विचारों का संगम है और हमारा एक ही लक्ष्य है महापरिवर्तन।’

गठबंधन से है उम्मीद

अखिलेश यादव से एक बात तो साफ हो जाती है कि वो किसानों और नौजवानों का मुद्दा उठाकर मैदान में जाने की तैयारी कर रहे हैं. यूपी की 80 लोकसभा सीटों पर सात चरणों में मतदान कराया जाएगा. और यहां पर सपा-बसपा-रालोद का मजबूत गठबंधन हुआ है. जिसमें बीएसपी 38, एसपी 37 और आरएलडी तीन सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.