OIC में कौन सा प्रस्ताव पारित हुआ जिसकी वजह से कांग्रेस ने सरकार पर सवाल उठाए ?

मोदी सरकार ने ओआईसी के आमंत्रण को एक बड़ी कूटनीतिक सफलता बताया था. लेकिन अब ओआईसी की बैठक में जो हुआ वो परेशान करने वाला है. कांग्रेस ने ओआईसी की बैठक में पारित हुए प्रस्ताव पर सवाल उठाए हैं और सरकार को घेरा है.

इस्लामिक सहयोग संगठन यानी ओआईसी की बैठक में 57 इस्लामिक देश शामिल हुए थे. इस बैठक में इस बार भारत को भी आमंत्रण दिया गया था. लेकिन इस बैठक में जो प्रस्ताव पारित किया गया उसने मोदी सरकार के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है. दरअसल ओआईसी की बैठक में एक प्रस्ताव पास किया गया जिसमें कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान का ‘समर्थन’ किया गया है.

कांग्रेस अब इसको लेकर मोदी सरकार को घेर रही है. कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा,

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अबूधाबी में ओआईसी की बैठक में भाग लिया था. राजग-भाजपा सरकार ने इसे भारत के लिए एक बड़ी कूटनीतिक सफलता बताया है कि उद्घाटन सत्र में उसे आमंत्रित किया गया…लेकिन अबूधाबी में जो हुआ वह भारत के लिए बेहद परेशान करने वाला है.’

पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने शनिवार इस बात की जानकारी दी की ओआईसी की बैठक में कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान के समर्थन में प्रस्ताव पारित हुआ है. इस प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भारत ने शनिवार को कहा था कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और यह मुद्दा देश की आंतरिक सुरक्षा से जुड़ा हुआ है.

ये सरकार के लिए झटका है क्योंकि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आईओसी के विदेश मंत्रियों की परिषद (सीएफएम) के 46वें सत्र के उद्घाटन सत्र में शामित हुईं थीं और आईओसी की सभा को संबोधित करने वाली पहली भारतीय मंत्री  बनी थी. उन्होंने इस बड़ी कामयाबी बताया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.