रूस और अमेरिका में टकराव, क्या परमाणु युद्ध की ओर बढ़ रही है दुनिया?

दुनिया की दो परमाणु संपन्न महाशक्तियां आपस में टकरा सकती हैं. रूस और अमेरिका के बीच टकरार बढ़ गई है. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि अगर अमरीका को लगता है कि वो सबसे पहले किसी पर परमाणु हमला कर सकता है कि एक नए क्यूबा-स्टाइल मिसाइल संकट के लिए रूसी सेना तैयार है.

पुतिन का ये बयान वैश्विक शांति के लिए अच्छी खबर नहीं है. उन्होंने जिस क्यूबा संकट का जिक्र किया है वो 1962 में आया था जब अमरीका के तुर्की में मिसाइल तैनात करने के उत्तर में रूस ने क्यूबा में अपनी बैलिस्टिक मिलाइलें तैनात की थीं. पुतिन के इस बयान के बाद दुनिया खतरे में है क्योंकि अगर ये कहासुनी बढ़ी तो हालात बेकाबू हो सकते हैं.

रूस और अमेरिका बीच इस तरह के तनाव को रोकने के लिए इंटरमीडिएट रेंज न्यूक्लियर फोर्सेस ट्रीटी यानी INF समझौता हुआ था. अमरीका ने हाल में कहा था कि वो इससे बाहर जाना चाहता है. अमेरिका इस बयान के बाद रूस को डर है कि कहीं अमेरिका यूरोप में इंटरमीडियएट रेंज की परमाणु मिसाइलें तैनात कर सकता है.

अमेरिका के इस बयान के बाद रूस ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि वो अपने युद्धपोतों पर हाइपरसौनिक मिसाइलें और अपनी पनडुब्बियां अमरीकी जलक्षेत्र के बाहर तैनात करेगा. अगर ऐसा होता है कि आने वाले वक्त में हालात और बेकाबू हो सकते हैं. दुनिया को डर है कि कहीं ये दोनों देख टकरा न जाएं

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.