अडानी के अस्पताल में 5 सालों के भीतर 1000 से ज्यादा बच्चे मरे

गुजरात विधानसभा में एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. रिपोर्ट में कहा गया है कि उद्योगपति गौतम अडाणी के जीके जनरल हॉस्पिटल में पिछले पांच सालों में 1000 से भी ज्यादा बच्चों की मौत हुई है.

उद्योगपति और पीएम मोदी को करीबी माने जाने वाले गौतम अडाणी के जीके जनरल हॉस्पिटल में पिछले 5 सालों में 1000 से भी ज्यादा बच्चों की मौत हुई है. अडाणी फाउंडेशन के कच्छ जिले में मौजूद भुज गांव के अस्पताल का ये आंकड़ा है. विधानसभा में कांग्रेस विधायक संतोकबेन अरेठिया ने सरकार ने सवाल किया था जिसके जवाब में राज्य के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने लिखित जवाब में यह जानकारी दी

पांच सालों में अडानी के अस्पताल में 1018 बच्चों की मौत हुई है. इस जांच के लिए पिछले साल एक समिति बनाई गई थी. स्वास्थ्य मंत्रालय की देखरेख में ये जांच हुई तो पता चला कि,

2014-15 में 188, 2015-16 में 187, 2016-17 में 208, 2017-18 में 276, 2018-19 में अब तक 159 बच्चों की मौत हो गई है

मई 2018 में एक जांच समिति ने बताया था कि बच्चों की मौत के पीछे कई अलग-अलग कारण हैं, जिनमें प्री-मैच्योर बच्चे, संक्रामक बीमारियां, सांस लेने में दिक्कतें, दम घुटना, खून में खराबी जैसी चीजें शामिल हैं. हालांकि सरकार ने ये भी कहा कि अस्पताल की ओर से कोई प्रोटोकॉल नहीं तोड़ा गया. कांग्रेस लगातार इसको लेकर आरोप लगाती रही है कि अडाणी को बीजेपी सरकार फायदा पहुंचाती रही है.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.