लोकसभा चुनाव : राहुल का ‘मास्टरप्लान’, कांग्रेस शुरू करेगी ‘युवा शक्ति कार्ड’ भरवाने का अभियान

पीएम मोदी की लोकप्रियता और उनकी चमकदार छवि बनाने में सबसे ज्यादा भूमिका रही है युवाओं की. आगामी लोकसभा चुनाव में भी युवा महत्वपूर्ण रहने वाले हैं. लिहाजा कांग्रेस मुखिया राहुल गांधी ने युवाओं को अपने पाले में खींचने के लिए ‘मास्टर प्लान’ तैयार किया है.

भारत सरकार की यूथ इन इंडिया, 2017 रिपोर्ट के मुताबिक, 1971 से 2011 के बीच युवाओं की आबादी 16.8 करोड़ से बढ़कर 42.2 करोड़ हो गई है, यानी कुल आबादी का 34.8 फीसदी हिस्सा युवा है. इस रिपोर्ट में 15 साल से 34 साल तक के लोगों को युवा माना गया गया है. आबादी के लिहाज से युवा लोकसभा चुनाव में इस बार भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे.

यही आकंड़े सभी राजनीतिक दलों को युवाओं की ओर देखने पर मजबूर कर रहे हैं. मोदी ने युवाओं से रोजगार देने का वादा किया था लेकिन आकंड़े बताते हैं कि उनके कार्यकाल में बेरोजगारी दर बढ़ी है. अब राहुल भी युवाओं की ओर देख रहे हैं और कांग्रेस चुनाव के लिए युवाओं के एक फॉर्म भरवाने वाली है. इन फार्मों को युवा शक्ति कार्ड का नाम दिया गया है.

इन फॉर्म में कांग्रेस सरकार बनने पर रोजगार या भत्ते का वादा करेगी. देश भर के युवाओं से संपर्क करने और उनसे अपनी सरकार बनने पर रोजगार संबंधी मदद का वादा करने का ‘मास्टरप्लान’ राहुल ने बनाया है. कांग्रेस कार्यकर्ता घर-घर जाकर बेरोजगार युवाओं से रोजगार फॉर्म भरवाएंगे. ‘युवा शक्ति कार्ड’ पर कांग्रेस का कहना है कि कई राज्यों में युवाओं से कांग्रेस ने इस तरह के फॉर्म भरवाए थे.

जिन तीन राज्यों में कांग्रेस ने सरकार बनाई वहां कांग्रेस युवाओं से किया वादा पूरा कर रही है. मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव से पहले युवाओं से इसी तरह का रोजगार फॉर्म भरवाया था और रोजगार से जुड़ी मदद का वादा किया था. चुंकि इन राज्यों में कांग्रेस को कामयाबी मिली लिहाजा अब ये योजना पूरे देश में लागू करने की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.