जवीद अहमद ने क्यों कहा ‘M’ होना गुनाह है ?

लंबी खींचतान के बाद केंद्रीय जांच  एजेंसी सीबीआई को नया निदेशक मिल गया है. लेकिन विवाद खत्म नहीं हुआ है. सीबीआई निदेशक बनने की रेस में शामिल उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक रहे जवीद अहमद के फेसबुक पोस्ट ने विवाद खड़ा कर दिया है.

उत्तर प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक जवीद अहमद भी सीबीआई निदेशक बनने की रेस में शामिल थे लिहाजा जब उनके नाम का एलान नहीं हुआ उन्होंने सोशल मीडिया पर एक प्रतिक्रिया दी. इसमें लिखा है,

अल्लाह की मर्ज़ी…बुरा तो लगता है पर ‘एम’ होना गुनाह है.’

इस पद के लिए उन्हें नज़रंदाज़ किए जाने को अपने मुस्लिम होने से जोड़ा है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक एक वॉट्सऐप ग्रुप में शनिवार शाम करीब 5:40 बजे मध्य प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्ला को सीबीआई निदेशक बनाए जाने का संदेश आया. इसके बाद 7:02 बजे जवीद अहमद ने इसी ग्रुप में अपनी प्रतिक्रिया दी.

हालांकि उन्होंने इस प्रतिक्रिया को थोड़ी देर बाद हटा लिया लेकिन विवाद तो खड़ा हो ही गया. किसी ने उसका स्क्रीन शॉट लेकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है. अख़बार के मुताबिक ग्रुप से जुड़े एक वरिष्ठ अफसर ने नाम न छापने की शर्त पर इसकी पुष्टि की है.

जवीद अहमद को 2016 में कई वरिष्ठ अफसरों की अनदेखी कर उत्तर प्रदेश का पुलिस महानिदेशक बनाया गया था. लेकिन 2017 में भारतीय जनता पार्टी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने उन्हें इस पद से हटा दिया था. जावीद अहमद की जगह सुलखान सिंह को पुलिस महानिदेशक बनाया गया था.

इसके बाद उन्हें नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ क्रिमिनलॉजी एंड फारेंसिक साइंस का महनिदेशक बनाया था. जब सीबीआई निदेशक की तलाश की जा रही थी तब वो सबसे आगे माने जा रहे थे लेकिन उनकी जगह ऋषि शुक्ला को निदेशक बना दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.