Instant Loan App : चीन की साजिश का पर्दाफाश, आप हो जाएं सावधान

Instant Loan App: Expose China's conspiracy, be careful

Instant Loan App : आजकल इंस्टेंट का जमाना है…. इंस्टेंट नूडल्स और इंस्टेंट कॉफी तक तो ठीक है….. लेकिन इंस्टेंट लोन… ना बाबा ना…  कांग्रेस ने मंगलवार को चीनी धोखाधड़ी लोन ऐप पर केंद्र की चुप्पी पर सवाल उठाया….. जिसने 52 युवाओं की जान ले ली…. साथ ही हवाला के माध्यम से 500 करोड़ रुपये की ठगी की…. प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने कहा कि कर्ज के जाल में फंसने की साजिश के तहत चीनी लोन ऐप द्वारा लाखों भारतीयों को ठगने की खबर सामने आए दो साल हो चुके हैं …..

जाने कैसी बादलों के दरमियाँ साज़िश हुई

मेरा घर मिट्टी का था, मेरे ही घर बारिश हुई

-अहमद तनवीर

Instant Loan App REALITY: जी हां… इंस्टेंट लोन ऐप से कर्ज ले चुके कई लोगों के खुदकुशी के मामले कई राज्यों से आ रहे हैं…. जांच में पता चला है कि इनमें से कई इंस्टेंट लोन ऐप के तार चीन और हांगकांग से जुड़े हैं…. कई चीनी नागरिकों और उनके भारतीय सहयोगियों की गिरफ्तारी के बाद भी इस तरह के ऐप का इस्तेमाल रुका नहीं है…. ये ऐप इज़ी स्टेप्स और मिनिमम डॉक्यूमेंट्स के जरिए इंस्टेंट लोन देकर ग्राहकों को कर्ज के जाल में फंसाते हैं… फिर उनके स्मार्टफोन से डेटा चुराने के बाद बड़ी रकम की वसूली करते हैं…

इस पूरे पिरामिड में सबसे ऊपर चीनी नागरिक हैं…. जो ऐप्स को डिज़ाइन और लॉन्च करते हैं… चार्टर्ड अकाउंटेंट शेल कंपनियों को स्थापित करने और पंजीकृत करने में मदद करते हैं…. भारतीय सहयोगियों को इन कंपनियों के निदेशक के रूप में काम पर रखा जाता है… कॉल सेंटर चलाने के लिए प्रबंधकों और कर्मचारियों को काम पर रखा गया है….

गौरव वल्लभ की माने तो…. जनवरी और फरवरी 2021 के बीच की गई एक जांच में पाया गया था कि प्ले स्टोर पर 1,100 से अधिक डिजिटल लोन ऐप उपलब्ध हैं…. आरबीआई ने भी स्वीकार किया है कि कम से कम 600 ऐसे ऐप अवैध रूप से काम कर रहे थे…. आरबीआई के मुताबिक, 2017 से 2020 के बीच डिजिटल प्लेटफॉर्म पर कर्ज में 12 गुना का उछाल आया है….. हमारे देश में अब तक 52 लोगों ने इन लोन ऐप्स द्वारा ब्लैकमेलिंग के कारण आत्महत्या कर चुके है… खुदकुशी के ये तो वे मामले में जिसमें खुलासा हो चुका है….. संभव है ऐसे और भी मामले हो….. जिसमें यह राजफाश न हुआ हो…. गौर कीजिए तो NCRB के आंकड़ों में बीते साल भारी तादाद में होने वाली आत्महत्याएं आखिर क्या बताना चाहती है….. साल 2021 में 1 लाख 64 हजार लोगों ने आत्महत्या की है… किसानों से ज्यादा तो व्यवसायियों और दिहाड़ी मजदूरों ने आत्महत्या की है…. क्या ये आंकड़े कलेजा धड़काने के लिए नाकाफी हैं?

Instant Loan App के मामले में फंस गई सरकार

कांग्रेस प्रवक्ता ने मोदी सरकार पर राष्ट्र से झूठ बोलने का आरोप लगाया…. साथ ही चीनी आक्रमण के खिलाफ बोलने तक की हिम्मत की कमी और अंतरराष्ट्रीय कूटनीति में विफल होने का भी आरोप लगाया…. कांग्रेस प्रवक्ता का दावा है कि 2020 में कोविड के आने के बाद से इस तरह के ऐप बढ़ गए हैं… मोदी सरकार ने लाखों लोगों को गरीबी में धकेलने वाली भारतीय अर्थव्यवस्था को कमजोर कर दिया है…. चीन की इस शातिराना हरकत के खिलाफ भारत सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है….

उन्होंने कहा  कि यह एक मुख्य कारण है कि निम्न और मध्यम आय वर्ग ऐसे लोन प्रस्तावों का सहारा लेने के लिए मजबूर हैं…. लोन ऐप का काम करने का तरीका उपयोगकर्ता को ऐप स्टोर या सीधे संदेश से ऐप इंस्टॉल करना है…. इंस्टालेशन के समय ऐप यूजर की फोन बुक, फोटो गैलरी, मैसेज आदि का एक्सेस मांगता है…. जिसके बिना ऐप इंस्टॉल नहीं होगा…. उपयोगकर्ता को केवाईसी उद्देश्यों के लिए आधार या पैन कार्ड प्रदान करने के लिए कहा जाता है…. लोन प्रदान करने के बाद, उपयोगकर्ता को मूल राशि का दोगुना भुगतान करने के लिए सात दिनों की मोहलत दी जाती है…. लेकिन यूजर को पांच दिनों के बाद फोन कॉल्स आने शुरू हो जाते हैं…. यहां तक कि अगर उपयोगकर्ता पूरी राशि का भुगतान करता है….. तो भी उसकी आवश्यकता के बिना….. उसके खाते में कुछ और पैसा स्थानांतरित कर दिया जाता है या पुनर्भुगतान अद्यतन नहीं किया जाता है….. जिससे उपयोगकर्ता को देर से भुगतान के लिए दंड का भुगतान करने के लिए मजबूर होना पड़ता है….. यदि उपयोगकर्ता भुगतान करने में विफल रहता है…. तो उसकी छेड़छाड़ की गई इमेज उसके दोस्तों और परिवार के साथ शेयर की जाती है…. यदि यह काम नहीं करता है…. तो कॉल सेंटर का उपयोग करके….. वे यूजर्स को उनकी नग्न तस्वीरों को शेयर करने की चेतावनी के साथ दुर्व्यवहार करते हैं….

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि केंद्र सरकार और एजेंसियों की अक्षमता के कारण इस तरह के कर्ज के जाल के कारण आत्महत्या के कई मामले सामने आए हैं…. चीनी लोन ऐप कंपनियों ने हवाला के जरिए भारत से 500 करोड़ रुपये की ठगी की है…. प्राथमिकताओं के मूल्यांकन में मोदी सरकार की ओर से कोई रणनीति नहीं बनाई गई है…. कोई ध्यान नहीं दिया गया है….. कुछ चीनी ऐप्स को 2020 में प्रतिबंधित कर दिया गया था…. लेकिन विशेष तौर पर ऐसे ऐप्स के खिलाफ कोई कारगर कार्रवाई नहीं की गई ….

Instant Loan App से फंसाने वाला गिरोह

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की आईएफएसओ यूनिट ने इंस्टैंट लोन मोबाइल एप्लिकेशंस के जरिये लोगों को ठगने वालों का खुलासा किया था…. तुरंत लोन देने और फिर उनसे अलग-अलग तरीकों से वसूली करने वाले एक मॉड्यूल का भी भंडाफोड़ किया था…. इन मोबाइल एप्लिकेशंस को चीनी एप के नाम से भी जाना जाता है…. इस मामले में देश के अलग-अलग हिस्सों से 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया है…. ये गैंग मोबाइल एप्लिकेशन के जरिए तुरंत लोन देता है और लोन वापसी के लिए अश्लील वीडियो और तस्वीर के माध्यम से उगाही करता है…. दिल्ली पुलिस ने दो महीने से अधिक समय तक चलाए गए एक अभियान में 500 करोड़ रुपये से अधिक के तत्काल लोन और उसकी वसूली करने वाले रैकेट का भंडाफोड़ किया था…. पुलिस ने कहा कि चीनी नागरिकों ने अब तक इस तरह की 500 करोड़ रुपये से अधिक की वसूली की है…. दरअसल दिल्ली पुलिस को एनसीआरपी पोर्टल पर सैकड़ों शिकायतें मिल रही थी….. तुरंत ब्याज पर लोन देकर और लोन के भुगतान को लेकर अश्लील वीडियो व तस्वीरों का इस्तेमाल करके पैसे की उगाही की जा रही है…. मामले की गंभीरता को देखते हुए आईएफएसओ ने इसका संज्ञान लिया और एनसीआरपी में शिकायतों की जांच शुरू की….

जांच के दौरान पता चला कि 100 से ज्यादा ऐसे ऐप हैं…. जो कर्ज और रंगदारी रैकेट में शामिल हैं…. लोन देने वाली ये ऐप पहले इसका इस्तेमाल करने वाले शख्स से एक्सेस परमिशन मांगती है और उसके बाद एक्सेस परमिशन मिलते ही ऐप डाउनलोड करने वाले यूजर की पूरी डिटेल, फोटो चीन और हांगकांग में मौजूद सर्वर पर अपलोड हो जाती है….

जब इस मामले की मनी रूट की जांच की गई तो पता चला कि हवाला और क्रिप्टोकरेंसी के जरिए पैसा चीन भेजा जा रहा है…. इसके अलावा ऐप्स एडब्ल्यूएस सर्वर और अली बाबा सर्वर से होस्ट किए जा रहे थे, जो भारत में होस्ट किए गए हैं…. दरअसल इनकी मॉडस ऑपरेंडी ये रहती थी कि ये लोन देने वाले लोन देने की आड़ में यूजर की सारी डिटेल ले लेते हैं…. ये एप्लिकेशन गूगल प्ले स्टोर, वेबसाइटों और विज्ञापनों में होस्ट किए जाते हैं…. ये भी पता चला है ये तुरंत पैसे लेने यानी छोटी राशि के लोन लेने वाले लोग ये एप्लिकेशन डाउनलोड करते थे साथ पूरा प्रोसेस, जिसमें एक छोटे से केवाईसी के बाद ऐप को अनुमति देते हैं…. इसमें केवल आधार कार्ड, पैन कार्ड और एक लाइव फोटोग्राफ अपलोड करना शामिल है…. उसके बाद उपयोगकर्ता के बैंक खाते में मिनटों में लोन भेज दिया जाता था….

यदि आपको लगता है कि इंस्टेंट लोन देने वालों के इरादे नेक होते हैं…. तो आप गलतफहमी में हैं…. Instant Loan App कम आय वाले लोगों को ट्रैप करती हैं…. एक बार लोन लेने के बाद ऐसे जाल में फंसाया जाता है कि इंसान उससे बाहर निकल ही नहीं पाता है…. कई बार तो लोग अपनी जान देकर इनसे पीछा छुड़ाने की कोशिश करते हैं…. परेशान हो चुका व्यक्ति लगभग 500-1000 फीसदी तक ज्यादा अमाउंट लौटाने के रास्ते खोजने लगता है…. वह कहीं और से पैसा उधार लेता है या लोन लेता है…. ताकि एक परेशानी से मुक्त हो सके…..

मीडिया में चल रही खबरों के मुताबकि ऐसे भी मामले हैं….. जिसमें ऐप ने 9,000 रुपये के ऋण के लिए प्रोसेसिंग फीस के रूप में 7,260 रुपये वसूले…. एक अन्य मामले में पीड़िता की मां, पत्नी, बहन और बेटी का उल्लेख करने वाले अश्लील संदेश उसे उसके कॉन्टेक्ट्स को फॉरवर्ड करने की धमकी के साथ भेजे गए थे…. ये ऐप्स पॉप-अप विज्ञापनों के माध्यम से पहला संपर्क बनाते हैं…. ये लोग मुख्य रूप से कम आय वाले लोगों को टार्गेट करने के लिए कुछ हजार रुपये के ऋण ऑफर करते हैं…. लोन का ये गंदा खेल रचने वाले अच्छे से जानते हैं कि कम आय वाले व्यक्ति…. जो कि कुछ हजार का लोन लेते हैं…. वे उसका लगभग दोगुना अमाउंट आसानी से लौटा नहीं पाते हैं….. अमूमन साधारण भारतीय डाटा चोरी को लेकर गंभीर नहीं रहते…. बल्कि कई लोग तो धड़ल्ले से यह भी कहते हैं छुपाने के लिए हैं क्या….. मगर डाटा चोरी कर क्या गुल खिलाए जा सकते हैं…. इसी की एक बानगी है यह प्रकरण

शातिर पड़ोसी देश चीन का प्रभावक्षेत्र लगातार बढ़ता ही जा रहा है….. उधर, अमेरिका की स्थिति अपेक्षाकृत उसके मुकाबले कमजोर हो रही है… बिना लागलपेट कहें तो भारत भविष्य के लिए पारस्परिक निर्भरता की स्थिति बनाने में अक्षम सिद्ध हो रहा है और बिना पक्षपात किए कहें, तो इस अक्षमता का इस बात से कोई ताल्लुक नहीं है कि कौन-सी पार्टी सत्ता में है…. समय समय पर चीन के महत्वाकांक्षी विस्तारवाद ने इस पारंपरिक वर्चस्व को चुनौती दी है…. चीन के लिए भारत बहुत बड़ा बाजार है…. भारत में चीन विरोधी माहौल के बाद अब चीन हांगकांग और सिंगापुर जैसे किसी तीसरे पक्ष के माध्यम से भारत में अपना व्यापार बढ़ाने लगा… व्यापार ही नहीं, सीमा पर भी उसकी हरकतें जगजाहिर हैं… भारत के पड़ोसियों पर उसकी गिद्ध दृष्टि है…. भारत को घेरने में कोई भी मौका वह नहीं चूकता…. गोल्ड मैन सैक्स अमेरिका का बड़ा बैंक है… लेकिन चीन में इसकी नकल करने में भी गुरेज नहीं किया…. कुछ समय पहले गोल्ड मैन सैक्स की नकली ब्रांच का चीन में खुलासा हुआ था… अमेरिकी आईफोन निर्माता कंपनी एप्पल की कॉपी करने के साथ ही कई मशहूर ब्रांड्स की कॉपी चीन कर चुका है…. अब इन Instant Loan App के जरिए वह भारत में सेंध लगा रहा है…..

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. https://rajniti.online/ पर विस्तार से पढ़ें देश की ताजा-तरीन खबरें

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *