Hindi kahaniyan : जब राहुल गांधी के कुत्ते ने गिरवा दी कांग्रेस की सरकार

Hindi kahaniyan : सुनने में अजीब लगता है लेकिन यह सच है. राजनीति में कभी-कभी कुछ ऐसा भी होता है जिस पर यकीन करना मुश्किल हो जाता है. यह कहानी भी कुछ ऐसी ही है जब एक कुत्ता किसी की सरकार गिराने की वजह बन गया.

Political Hindi kahaniyan : इस राजनीतिक कहानी की पृष्ठभूमि बननी शुरू हुई 2015 में. जब हिमंत बिस्व सरमा 2015 में कांग्रेस को छोड़ कर बीजेपी ज्वाइन की थी और साल 2016 में उन्होंने एक ऐसा बयान दिया था जिसकी चर्चा आजतक होती है. उन्होंने दावा किया था कि राहुल गांधी नेताओं से बात करने की अपेक्षा अपने कुत्तों के साथ खेलना अधिक पसंद करते हैं. उन्होंने कहा था,

“राहुल का किसी बात में कंसनट्रेशन नहीं होता. जैसे 5 मिनट आपके साथ बहुत बात करेगा. आपको लगेगा कि वो बदल गया है. हमेशा मैं मीडिया में देखता हूं कि ये बदल गया है राहुल… 45 साल में कोई बदलता है क्या… लेकिन कोई शुभचिंतक हैं वो बोलते हैं कि नहीं राहुल इज़ ए चेंज मैन. क्या चेंज मैन हैं. 5 मिनट उनसे बात करो, अच्छा इंगेजमेंट रहता है, सेम मिनट में उनका पेट डॉग आ जाते हैं और वो उनके साथ खेलना शुरू कर देते हैं, फिर वो लेकर आएगा अपना कंसनट्रेशन, फिर दो मिनट के बाद कंसनट्रेशन ब्रेक हो जाएगा. आपने ऐसा कोई आदमी देखा है क्या?”

Rajniti ki Hindi kahaniyan की इस सीरीज में हम आपको जिस कहानी के बारे में बता रहे हैं  उस कहानी के राजनीतिक मायने बहुत हैं. क्योंकि असम में कांग्रेस की सरकार गिराने के लिए जो योजना सरमा ने बनाई उसने कई लोगों को हैरान कर दिया था. उन्होंने आगे कहा था कि,

“मैं, सीपी जोशी, तरुण गोगोई, हमारे प्रदेश का अध्यक्ष. बात करते हुए सीपी जोशी और गोगोई जी के बीच थोड़ा झगड़ा जैसा हो गया. तो वो कुत्ता टेबल पर आया, उसी समय और जो कॉमन प्लेट में बिस्कुट था, उससे बिस्कुट उठाया, मैं उम्मीद कर रहा था कि राहुल इस झगड़े में कुछ बोलेंगे कि आप लोग झगड़ा मत करो. उन्होंने मुझे देखा और हंसे कि भाई कुत्ता उठाकर के ले गया… तो ठीक है मैं चाहता था कि वो किसी को बेल मार कर के बुलाएगा कि प्लेट चेंज करो. ये तो हमको एसपेक्टेशन था. प्लेट भी चेंज नहीं हुआ और फिर उसी प्लेट से उठाकर दो एक बिस्किट भी खाया. मैं तो हैरान हो गया भाई. ऐसे कैसे देश चलेगा. मैं आते आते उन्हें बोल कर के आया कि राहुल जी धन्यवाद आपने मुझे इतना काम करने का मौका दिया.”

हिमंत बिस्व सरमा ने कहा कि इसके बाद उन्होंने राम माधव को फोन किया. राम माधव RSS से बीजेपी में आए थे. दोनों लोग इस वाकये पर हंसे. बताया जाता है कि इसी के बाद हिमांता ने कांग्रेस से किनारा कर लिया और बीजेपी ज्वाइन कर ली. 2016 में Assam में चुनाव हुए जहां कांग्रेस के हिस्से आई हार और बीजेपी की बनी सरकार.

Hindi Kahaniyan : political Hindi kahaniyon की इस सीरीज में आज की एक कहानी आपको कैसी लगी जरूर बताइए. क्योंकि हम रोज आपके लिए इस तरह के दिलचस्प कहानियां लेकर आएंगे.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. https://rajniti.online/ पर विस्तार से पढ़ें देश की ताजा-तरीन खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published.