बाइडेन और जिनपिंग की वार्ता, विवादों के बीच बातचीत माजरा क्या है?

बाइडेन और जिनपिंग ने सोमवार को वर्चुअल बातचीत की. वार्ता का उद्देश्य व्यापार, ताइवान और मानवाधिकारों पर विवादों के बीच दोनों पक्षों के बीच तनाव कम करना है.

व्यापार, प्रौद्योगिकी, ताइवान और मानवाधिकार समेत कई मुद्दों पर दोनों पक्षों के बीच बढ़ती खाई के बीच दोनों नेता तनाव कम करने के लिए बातचीत के लिए साथ आए हैं. बैठक की शुरूआत में बाइडेन ने कहा, “दुनिया और अपने लोगों के प्रति हमारी जिम्मेदारी है.” साथ ही उन्होंने कहा, “सभी देशों को समान नियमों का पालन करना चाहिए.”

दोनों नेताओं जब अपने अपने देशों में उप राष्ट्रपति थे तब दोनों ने एक साथ यात्रा की थी और एक दूसरे को अच्छी तरह से जानते हैं. लेकिन बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद से उनकी आमने-सामने बैठक नहीं हुई है. शी ने बैठक की शुरूआत में कहा, “बाइडेन मेरे पुराने दोस्त हैं.” उन्होंने कहा कि प्रतिद्वंद्वियों को एक साथ काम करना चाहिए. जिनपिंग के मुताबिक, “चीन और अमेरिका को संवाद और सहयोग बढ़ाने की जरूरत है.”

चीनी सरकारी मीडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, जिनपिंग ने कहा कि जलवायु परिवर्तन और कोविड​​-19 जैसी वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए एक स्वस्थ और स्थिर द्विपक्षीय संबंध आवश्यक है. जिनपिंग ने कहा, “आम सहमति बनाने, सक्रिय कदम उठाने और चीन-अमेरिका संबंधों को सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ाने के लिए मैं आपके साथ काम करने के लिए तैयार हूं.”

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. rajniti.online पर विस्तार से पढ़ें देश की ताजा-तरीन खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *