“कोरोना की वैक्सीन कोई जादू नहीं हैं, अभी उसे आने में वक्त लगेगा”

दुनिया भर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का कुल आँकड़ा तीन करोड़ के नज़दीक पहुँच चुका है, वहीं इस वायरस से मरने वालों की संख्या नौ लाख 40 हज़ार के पार हो गई है. ऐसे में वैक्सीन कब आएगी इसका सभी को इंतजार है. इस इंतजार के बीच ही डॉक्टर हर्ष वर्धन ने राज्य सभा में साथ ही कहा,”वैक्सीन कोई जादू नहीं हैं”

भारत के स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्ष वर्धन ने अगले साल की शुरूआत तक कोरोना की वैक्सीन उपलब्ध होने की उम्मीद जताई है. डॉक्टर हर्ष वर्धन ने राज्य सभा में साथ ही कहा,”वैक्सीन कोई जादू नहीं हैं, बड़े पैमाने पर वैक्सीन के उपलब्ध होने के लिए वक़्त लगेगा. लेकिन कोरोना वायरस को रोकने के लिए मास्क सबसे महत्वपूर्ण है.” उधर, विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार फ़िलहाल 33 कंपनियों के कोरोना वैक्सीन का परीक्षण हो रहा है. इनमें से 9 वैक्सीनों का तीसरे चरण का क्लीनिकल ट्रायल किया जा रहा है.

  • भारत की फ़ार्मा कंपनी डॉक्टर रेड्डीज़ लैब्स ने कहा था कि भारत को इस साल के आख़िर तक कोरोना वायरस की वैक्सीन मिल सकती है. कंपनी ने रूस के साथ रूसी वैक्सीन स्पुतनिक V के 10 करोड़ डोज़ ख़रीदने का क़रार किया है.
  • ऑक्सफ़ोर्ड की वैक्सीन बना रही ऐस्ट्राज़ेनिका के भारतीय पार्टनर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंडिया को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया (डीसीजीआई) से वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल्स फिर शुरू करने की अनुमति मिल गई है.

डब्ल्यूएचओ के अनुसार वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल पूरे न होने के कारण विवादों में रहने वाली रूस की स्पुतनिकV वैक्सीन के भी पोस्ट रजिस्ट्रेशन क्लिनिकल ट्रायल जारी हैं. ये ट्रायल फिलहाल 40,000 लोगों पर हो रहे हैं. इन 33 वैक्सीन के अलावा 145 और कोरोना वैक्सीन पर भी काम चल रहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार फ़िलहाल 33 कंपनियों के कोरोना वैक्सीन का परीक्षण हो रहा है. इनमें से 9 वैक्सीनों का तीसरे चरण का क्लीनिकल ट्रायल किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:

अपनी राय हमें [email protected] के जरिये भेजें. फेसबुक और यूट्यूब पर हमसे जुड़ें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *