किसने हैक किया कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का फोन?

व्हाट्सएप हैकिंग मामले में अब कांग्रेस ने केंद्र सरकार को गिरते हुए पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी के फोन हैक होने की बात कही है. कांग्रेस ने दावा किया है केंद्र सरकार ने प्रियंका गांधी का फोन हैक कराया.

कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके सरकार पर आरोप लगाया है कि जिस समय व्हाट्सएप ने हैक किए हुए फोनों को मैसेज भेजे थे उस समय प्रियंका गांधी के फोन पर भी मैसेज आया था. फोन हैकिंग का मामला उस वक्त सामने आया जब फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी व्हाट्सएप में कहा कि इसराइली स्पाइवेयर के जरिए दुनियाभर के करीब 14 सौ लोगों का फोन हैक किया गया जिसमें भारतीय पत्रकार विपक्ष के कुछ नेता और कुछ मानवाधिकार संगठन के लोग शामिल हैं.

दरअसल व्हाट्सएप उन तमाम लोगों को मैसेज भेज रहा है जिनके फोन पर गार्सेस सॉफ्टवेयर के जरिए एक होने की आशंका है. कांग्रेस ने दावा किया है कि व्हाट्सएप में इस तरह का मैसेज पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी को भी भेजा है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके यह दावा किया कि केंद्र सरकार प्रियंका गांधी का फोन हैक कर आ रही थी. रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीधे-सीधे सरकार पर सवाल उठाए . उन्होंने कहा कि व्हाट्सएप उन तमाम लोगों को मैसेज भेज रहा है जिनके फोन हैक हुए हैं और ऐसा ही मैसेज प्रियंका गांधी को भी मिला है.

केंद्र सरकार ने कराई जासूसी

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर जाससूी करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि लोग बीजेपी के लिए एक नया नाम बता रहे हैं- ‘भारतीय जासूसी पार्टी.’ उन्होंने केन्द्र सरकार पर भी निशाना साधा और कहा- ‘अबकी बार जासूस सरकार.’ कांग्रेस ने मोदी सरकार से मांग की है कि इस पूरे मामले की जांच कराई जानी चाहिए. सुरजेवाला ने कहा कि इस मामले में सरकार को सख्त से सख्त कदम उठाने की जरूरत है. उन्होंने तो यहां तक कहा है कि राज्य सरकार कोर्ट के तमाम लोगों की जासूसी कराई जा रही है और इस मामले में केंद्र सरकार को जवाब देने की जरूरत है.

यह भी पढ़ें:

आपको बता दें कि भारत में व्हाट्सऐप के 40 करोड़ यूज़र्स हैं, लिहाजा भारत उनके लिए सबसे बड़ा बाज़ार है. हाल ही में इसराइली स्पाईवेयर ‘पेगासस’ के ज़रिए भारतीयों की जासूसी करने के मामले में भारत सरकार ने व्हाट्सऐप से जवाब तलब किया था. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी थी. उन्होंने ट्वीट किया था, “मेसेजिंग प्लेटफॉर्म व्हाट्सऐप पर भारत के नागरिकों की निजता के उल्लंघन को लेकर भारत सरकार चिंतित है. हमने व्हाट्सऐप से पूछा है कि यह किस प्रकार का उल्लंघन है और करोड़ों भारतीयों की निजता की सुरक्षा के लिए वह क्या कर रहा है.” रविशंकर प्रसाद के इस ट्वीट के बाद से ही कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार पर हमलावर हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *