‘अच्छे दिन’ का भोंपू बजाने वाली भाजपा सरकार ने अर्थव्यवस्था की हालत पंचर कर दी’

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने जीडीपी में आई गिरावट को लेकर बीजेपी सरकार पर तीखा प्रहार किया है. प्रियंका गांधी ने तंज करते हुए कहा है कि ‘अच्छे दिन’ भोपूं बचाने वाली सरकार ने अर्थव्यवस्था को पंचर कर दिया है.

अर्थव्यवस्था को लेकर कांग्रेस बीजेपी सरकार को घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहती. कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने जीडीपी में आई गिरावट को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. प्रियंका गांधी ने एक ट्वीट करके कहा है कि बीजेपी सरकार ने अर्थव्यवस्था को पंचर कर दिया है. उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा,

जीडीपी विकास दर से साफ है कि अच्छे दिन का भोंपू बजाने वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार ने अर्थव्यवस्था की हालत पंचर कर दी है. न जीडीपी ग्रोथ है न रुपये की मजबूती. रोजगार गायब हैं.इसी ट्वीट से सवालिया लहजे में प्रियंका गांधी ने आगे कहा है, ‘अब तो साफ करो कि अर्थव्यवस्था को नष्ट कर देने की ये किसकी करतूत किसकी है.

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही के जो आकंड़े जारी किए हैं उसको लेकर विपक्ष बीजेपी सरकार को घेर रहा है. इन आकंड़ों में बताया गया है कि जीडीपी के 5.8 फीसदी से घटकर पांच फीसदी पर आ गई है. इतना ही नहीं आर्थिक मामलों पर रेटिंग देने वाली वैश्विक एजेंसी ‘मूडीज’ ने भी भारत की विकास दर के अनुमान को घटाया है. इस एजेंसी ने 2019 में भारत की जीडीपी 6.80 प्रतिशत के बजाय 6.20 फीसदी रहने का अनुमान लगाया है.

ये भी पढ़ें:

‘मूडीज’ ने ही 2020 के लिए ये अनुमान 7.30 फीसदी से घटाकर 6.7 फीसदी कर दिया गया है. ये मोदी सरकार और देश की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं. सिर्फ प्रियंका गांधी ही नहीं कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बीती 6 तिमाहियों के दौरान जीडीपी में आई गिरावट को दर्शाने वाली एक तालिका ट्वीट की है.

सुरजेवाला ने ट्वीट करके लिखा है ‘भाजपा सरकार में अर्थव्यवस्था की दुर्दशा!’ के जुमले वाले इसी ट्वीट से सवालिया लहजे में सुरजेवाला ने यह भी कहा है, ‘क्या ये है नया भारत.’ अर्थव्यवस्था को लेकर जो आकंड़े आए हैं उससे कांग्रेस को सरकार को घेरने का मौका मिल गया है. ऐसे में देखना होगा कि अर्थव्यवस्था की खराब हालत से सरकार कैसे निपटती है.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.