पीवी सिंधू ने रचा इतिहास, बैडमिंटन की वर्ल्ड चैंपियन बनी

पीवी सिंधू ने इतिहास रचते हुए विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप जीत ली है. भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधू पहली भारतीय महिला बन गईं हैं जिन्होंने ये चैंपियनशिप जीती है. फाइनल में पहुंचने के लिए उन्होंने विश्व की तीसरी वरीयता प्राप्त चीन की शटलर चेन यूफे को हराया था और फाइनल में उन्होंने जापान की नोज़ोमी ओकुहारा को 37 मिनट में हराकर ख़िताब अपने नाम किया.

भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधू ने लगातार तीसरी बार विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में फाइनल में जगह बनाने के बाद तीसरी बार में ये खिलाब अपने नाम कर लिया. शनिवार को सेमीफाइनल में उन्होंने विश्व की तीसरी वरीयता प्राप्त चीन की शटलर चेन यूफे पर एकतरफा मुकाबले में हरा दिया था . और फाइनल मुकाबले में उन्होंने जापान की नोज़ोमी को हराया दिया.

पीवी सिंधू ने सेमीफाइनल में मैच को 21-7 और 21-14 से जीता था और फाइनल में भी उन्होंने 37 मिनट में ही मैच अपने नाम कर लिया. इससे पहले सिंधू ने 2017 में ग्लास्गो और फिर 2018 में चीन के नानजिंग में हुई विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाई थी. हालांकि वो दोनों ही खिताबी मुकाबलों में हार गईं थीं.

पांचवी वरीयता प्राप्त सिंधू ने इससे पहले क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ताइवान की ताई जू यिंग को हराया था. स्विट्ज़रलैंड में खेले गए टूर्नामेंट के फ़ाइनल में सिंधु ने दबदबा बनाए रखा और मैच 21-7, 21-7 से अपने नाम किया. पीवी सिंधू इस बार के मुक़ाबले से पहले वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में सिंधु पाँच बार पदक हासिल कर चुकी हैं जिनमें दो रजत और तीन कांस्य पदक थे.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.