पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा भारत ‘गंभीर संकट’ के दौर में

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 समाप्त किए जाने को लेकर अपनी पहली प्रतिक्रिया दी. मनमोहन सिंह ने कहा कि सरकार का यह कदम देश के कई लोगों को पसंद नहीं आया है. उन्होंने कहा ‘आइडिया ऑफ इंडिया’ का विचार पुख्ता हो, इसके लिए जम्मू कश्मीर के लोगों की आवाज सुनी जानी चाहिए.

जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने को लेकर हो रहे हो हल्ले के बीच पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि भारत अभी ‘गंभीर संकट’ के दौर से गुजर रहा है और अभी जरूरी है कि समान विचारधारा के लोग एकजुट हों. मनमोहन सिंह ने दिल्ली में पत्रकारों से कहा,

इसका (अनुच्छेद 370 की समाप्ति) नतीजा देश के कई लोगों के पसंद के मुताबिक नहीं है. यह काफी अहम है कि ऐसे लोगों (जम्मू कश्मीर के निवासी) की आवाज सुनी जाए. दीर्घकाल तक ‘आइडिया ऑफ इंडिया’ का विचार बनाए रखने के लिए हमें अपनी आवाज उठानी चाहिए.’

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 समाप्त किए जाने के बाद पूर्व पीएम मनमोहन सिंह का यह पहला बयान है. आपको बता दें कि 5 अगस्त को मोदी सरकार ने एक बड़े फैसले के तहत जम्मू कश्मीर का विशेष दर्ज खत्म कर दिया था और इस प्रदेश को दो भागों में बांट दिया. एक हिस्सा जम्मू कश्मीर का और दूसरा लद्दाख का है. आपको बता दें कि इस बयान के बीच पूर्व पीएम मनमोहन सिंह का राज्यसभा जाना भी तय हो गया है.

मनमोहन सिंह का राज्यसभा जाना लगभग तय

लगभग तीन दशक तक संसद के उच्च सदन राज्यसभा के सदस्य रहे पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह एक बार फिर सदन में पहुंचने के लिए कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में नामांकन कर चुके हैं. कुल 200 सदस्यों वाली राजस्थान विधानसभा में कांग्रेस के पास 100 विधायक हैं, और इनके अलावा उनके पास 12 निर्दलीयों तथा बहुजन समाज पार्टी (BSP) के छह विधायकों का समर्थन भी है, सो, डॉ. मनमोहन का निर्वाचन निश्चित है.

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.